Home /News /uttar-pradesh /

झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने पर मचा बवाल,विधायक ने रेलमंत्री को लिखी चिट्ठी

झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलने पर मचा बवाल,विधायक ने रेलमंत्री को लिखी चिट्ठी

झांसी

झांसी स्टेशन का नाम हुआ वीरांगना लक्ष्मीबाई स्टेशन

नए साल में झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन कर दिए जाने के बाद रेलवे स्टेशन के बोर्ड पर लिखा झांसी हट गया है.नए बोर्ड पर वीरांगना लक्ष्मीबाई लिखे जाने के बाद विवाद शुरू हो गया है.आम लोगों से लेकर व्यापारी तक इस कदम का विरोध कर रहे हैं.उनका कहना है कि रानी लक्ष्मीबाई की पहचान भी झांसी से ही थी.

अधिक पढ़ें ...

    नए साल में झांसी रेलवे स्टेशन का नाम बदलकर वीरांगना लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन कर दिए जाने के बाद रेलवे स्टेशन के बोर्ड पर लिखा झांसी हट गया है.नए बोर्ड पर वीरांगना लक्ष्मीबाई लिखे जाने के बाद विवाद शुरू हो गया है.आम लोगों से लेकर व्यापारी तक इस कदम का विरोध कर रहे हैं.उनका कहना है कि रानी लक्ष्मीबाई की पहचान भी झांसी से ही थी.ऐसे में झांसी शब्द हटाया जाना सरासर गलत है.

    हर वर्ग से उठे विरोध के स्वर
    वरिष्ठ पत्रकार लक्ष्मी नारायण शर्मा ने कहा कि सरकार ने नाम क्यों बदला यह तो वही जान सकते हैं लेकिन झांसी और रानी लक्ष्मीबाई एक दूसरे के पूरक है, ऐसे में झांसी शब्द हटाया जाना किसी भी तरीके से सही नहीं है.एक व्यापारी ने कहा कि जब 1857 में रानी लक्ष्मी बाई ने खुद कहा था कि मैं अपनी झांसी नहीं दूंगी तो फिर सरकार को क्या जरूरत पड़ गई झांसी नाम को बदलने की या हटाने की.तो उधर वरिष्ठ भाजपा नेता प्रदीप सरावगी ने कहा कि स्टेशन को वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम से किए जाने का तो हम स्वागत करते हैं लेकिन वहां से झांसी शब्द हटाए जाने का विरोध करते हैं और यह मांग करते हैं कि जल्द से जल्द इसमें झांसी शब्द भी जोड़ा जाए.

    विधायक ने लिखी रेल मंत्री को लिखी चिट्ठी
    विरोध तेज हुआ तो बीजेपी विधायक रवि शर्मा ने झांसी रेलवे स्टेशन के नाम परिवर्तन पर रेलमंत्री अश्वनी वैष्णव को पत्र लिख दिया.उन्होंने लिखा है कि झांसी से ही महारानी लक्ष्मीबाई की पहचान है.इसलिए वीरांगना लक्ष्मीबाई के नाम के साथ झांसी को भी जोड़ दिया जाए.वहीं दूसरी ओर कांग्रेस नेता और पूर्व केंद्र मंत्री प्रदीप जैन ने स्टेशन पर जाकर नाम पट्टिका पर खुद ही अपने हाथों से झांसी लिख दिया,उन्होंने कहा कि अगर इसे हटाया गया तो विरोध होगा क्योंकि यह हमारे भावनाओं से जुड़ा हुआ है.
    (रिपोर्ट – शाश्वत सिंह)

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर