झांसी: किशोरी से रेप के आरोपी शख्स ने गिरफ्तारी से पहले फांसी लगाकर दी जान

(सांकेतिक तस्वीर)
(सांकेतिक तस्वीर)

पुलिस के अनुसार 27 सितम्बर को गांव की एक किशोरी के प्रार्थना पत्र पर आरोपी राजू के खिलाफ रेप की धारा में मुकदमा दर्ज कर जांच चल रही थी. गिरफ्तारी से पहले ही आरोपी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.

  • Share this:
झांसी. एक तरफ जहां किशोरियों के साथ हो रहे बलात्कार की घटनाओं के बाद पूरे देश में हंगामा, धरना प्रदर्शन की स्थिति बनी हुई है. रेप के आरोपियों को फांसी दि्लाने की सजा की मांग को लेकर सपा, बसपा, कांग्रेस से लेकर तमाम संगठन धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं. वहीं दूसरी तरफ बुंदेलखंड के झांसी (Jhansi) जिले में एक ऐसी सनसनीखेज घटना सामने आई है. यहां नाबालिग से बलात्कार करने के एक आरोपी ने फांसी लगाकर आत्महत्या (Suicide) कर ली है. इस घटना के बाद पूरे जिले में सनसनी फैल गई.

बीते 27 सितंबर को आरोपी के खिलाफ रेप का मुकदमा दर्ज हुआ था, जिसके बाद पुलिस रेप के आरोपी की सरगर्मी से तलाश कर रही थी. पुलिस को रेप का आरोपी जिंदा तो नहीं मिला हां उसकी लाश एक पेड़ पर टंगी हुई जरूर मिली. फिलहाल पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

27 सितंबर को दर्ज हुआ था केस



झांसी जिले के गुरसरांय थानान्तर्गत ग्राम कुरैठा में रहने वाले लगभग 40 वर्षीय राजू ने खेत में फांसी लगा ली, जिससे उसकी मौत हो गई. लोगों ने फांसी पर लटकते देख इसकी सूचना पुलिस को दी. पुलिस मौके पर पहुंची और शव को कब्जे में ले लिया. पुलिस अफसरों के मुताबिक मृतक पर 27 सितंबर को थाना गुरसराय 376 (3) 506 आईपीसी पॉक्सो एक्ट का मुकदमा दर्ज था. केस दर्ज होने से राजू अहिरवार काफी परेशान था. परिजनों का कहना है कि रोज की तरह राजू ने शाम के समय भोजन किया और आराम के लिए नजदीक मे बने बाड़े में सोने चला गया.
सुबह जब राजू नहीं मिला तो खोजबीन की गई. इस दौरान छोटे भाई मलखान ने गांव से कुछ दूर खेत में बबूल के पेड़ से राजू को लटका पाया. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पेशी पर कोर्ट में होना था हाजिर

पिता ने बताया कि राजू तीन में दूसरे नंबर का था. उसे आज ही दुष्कर्म के आरोप में झांसी पेशी पर हाजिर होना था. उन्होंने कहा कि उनके बेटे को गलत फंसाया गया क्योंकि मेरे बेटे की उम्र 45 वर्ष थी और लड़की की उम्र 15 से 16 साल है. मेरे बेटे की शादी को लगभग 20 साल हो गए थे जिसके कोई बच्चे नहीं थे. घर पर ही खेती किसानी का कार्य देखा करता था. मेरा बेटा राजू बहुत अधिक दबाव में था, जिसके चलते फांसी लगा ली.

पुलिस के अनुसार 27 सितम्बर को गांव की एक किशोरी के प्रार्थना पत्र पर आरोपी राजू के खिलाफ रेप की धारा में मुकदमा दर्ज कर जांच चल रही थी. गिरफ्तारी से पहले ही आरोपी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली.  फिलहाल शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज