Home /News /uttar-pradesh /

सपा सांसद रामगोपाल यादव बोले-किसान बिल वापस लेना BJP का चुनावी स्टंट, मारे गए किसान क्या जिंदा हो जाएंगे?

सपा सांसद रामगोपाल यादव बोले-किसान बिल वापस लेना BJP का चुनावी स्टंट, मारे गए किसान क्या जिंदा हो जाएंगे?

Jhansi: उन्होंने कहा कि यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी बुरी तरह से हार रही है.

Jhansi: उन्होंने कहा कि यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी बुरी तरह से हार रही है.

Jhansi News: बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने का ऐलान किया है. इसको लेकर संसद के अगले सत्र में विधेयक लाया जाएगा. तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे थे. देश के करीब 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधि समूह संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का स्वागत किया है.

अधिक पढ़ें ...

झांसी. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने तीन नए कृषि कानून (New Farm Laws) वापस लेने का ऐलान किया है. इसी कड़ी में समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता और सांसद रामगोपाल यादव (Ram gopal Yadav) ने केंद्र की बीजेपी सरकार पर पटलवार करते हुए निशाना साधा. शुक्रवार शाम झांसी पहुंचे सपा के वरिष्ठ नेता रामगोपाल यादव ने कहा कि किसान बिल वापस लेना भाजपा का चुनावी स्टंट है. उन्होंने कहा कि माफी मांगने से क्या किसान वापस जिंदा हो जाएंगे जो आंदोलन में शहीद हुए. रामगोपाल ने आगे कहा कि भाजपा से ज्यादा देश को किसी ने भ्रमित और धोखे में नही रखा. उन्होंने कहा कि यूपी में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में बीजेपी बुरी तरह से हार रही है.

वहीं अखिलेश यादव ने ट्वीट कर कहा कि अमीरों की भाजपा ने भूमि अधिग्रहण व काले क़ानूनों से गरीबों-किसानों को ठगना चाहा. कील लगाई, बाल खींचते कार्टून बनाए, जीप चढ़ाई लेकिन सपा की पूर्वांचल की विजय यात्रा के जन समर्थन से डरकर काले-क़ानून वापस ले ही लिए. सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा बताए सैंकड़ों किसानों की मौत के दोषियों को सजा कब मिलेगी. उधर, कृषि कानून वापसी को लेकर जयंत चौधरी ने ट्वीट करते हुए कहा कि यह किसान की जीत है, हम सब की जीत है. देश की जीत है.

UP: मऊ में शादी के 6 माह बाद युवती को घर से बुलाकर मारी गोली, फिर खुद दी जान

बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले करीब एक साल से अधिक समय से विवादों में घिरे तीन कृषि कानूनों को वापस लिए जाने का ऐलान किया है. इसको लेकर संसद के अगले सत्र में विधेयक लाया जाएगा. तीनों कृषि कानूनों के विरोध में किसान आंदोलन कर रहे थे. देश के करीब 40 किसान संगठनों के प्रतिनिधि समूह संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) ने तीनों केंद्रीय कृषि कानूनों को निरस्त करने की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की घोषणा का स्वागत किया है. उसने ये भी कहा कि एसकेएम सभी घटनाक्रमों का संज्ञान लेगा और जल्द ही बैठक कर आगे के निर्णयों की घोषणा करेगा.

Tags: Bjp government, Jhansi news, New Farm Bill, Samajwadi party, UP Chunav 2022, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर