Home /News /uttar-pradesh /

UP Elections 2022: बुंदेलखंड में फिर सभी 19 सीटों पर कमल खिलाकर इतिहास दोहरा पाएगी बीजेपी?

UP Elections 2022: बुंदेलखंड में फिर सभी 19 सीटों पर कमल खिलाकर इतिहास दोहरा पाएगी बीजेपी?

इस बार बुंदेलखंड के बंजर की सभी सीटों पर कमल खिलाए रखना बीजेपी की बड़ी चुनौती होगी.

इस बार बुंदेलखंड के बंजर की सभी सीटों पर कमल खिलाए रखना बीजेपी की बड़ी चुनौती होगी.

Bundelkhand Assembly Seat: उतर प्रदेश विधानसभा की लड़ाई में बुंदेलखंड का इलाका भी खास महत्व रखता है. इस इलाके में कांग्रेस, बीएसपी और एसपी की मजबूत पकड़ रही है, जिसके साथ वह सत्ता में काबिज होती रही. साल 2017 के विधानसभा चुनाव में यहां बीजेपी ने सभी 19 सीटें जीतकर इतिहास रचा और सत्ता में भी काबिज हो गई. इस बार फिर बुंदेलखंड में सभी सीटों पर कमल खिलाए रखना बीजेपी के लिए बड़ी चुनौती होगी.

अधिक पढ़ें ...

झांसी. उतर प्रदेश विधानसभा चुनाव (Uttar pradesh assembly election 2022) की रणभेरी बजते ही सभी दलों ने ताकत झोंक दी है. BJP, SP, BSP और कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों का ऐलान करना शुरू कर दिया है. बीजेपी ने पहले और दूसरे चरण के चुनावी क्षत्रों के उम्मीदवारों की सूची भी जारी कर दी और अब तीसरे-चौथे चरण में यूपी का वह बुंदेली इलाका भी है, जहां बीजेपी ने सभी 19 सीटें जीतकर 2017 में इतिहास रच दिया था. अब 2022 का मैदान फिर एक बार तैयार है और ऐसे में बीजेपी के सामने एक बार फिर बुंदेलखंड (Bundelkhand) के बंजर में कमल खिलाने की चुनौती होेगी.

देश की राजनीति में बुंदेलखंड के इलाके को सियासी रूप से बेहद अहम माना गया है. इसमें उत्तर प्रदेश के सात और मध्य प्रदेश के छह जिले आते हैं. उत्तर प्रदेश के हिस्से के सात जिलों – झांसी, ललितपुर, जालौन, हमीरपुर, बांदा, महोबा व कर्बी (चित्रकूट) – में विधानसभा की 19 सीटें आती हैं. 2017 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने यहां की सभी 19 सीटों को जीतकर रिर्कार्ड कायम किया था.

प्रत्याशी चयन है चुनौती
बुंदेलखंड क्षेत्र में एक समय कांग्रेस का वर्चस्व हुआ करता था. यहां की अधिकांश सीटों पर कांग्रेस ही काबिज रही, लेकिन 1984 के बाद से इस इलाके में कांग्रेस की पकड़ कमजोर होती गई और उसकी जगह समाजवादी पार्टी और बीएसपी और फिर बीजेपी ने ले ली. 2014 के लोकसभा चुनाव में मीेदी के बीच यहां की चारों लोकसभा सीटें बीजेपी ने जीतीं. उसके बाद 2017 के विधानसभा में बीजेपी ने सभी 19 सीटों पर सभी भगवा ध्वज फहरा दिया. बीजेपी की पकड़ यहां 2019 के लोकसभा चुनाव में भी ढीली नहीं हुुई है. एक बार फिर बीजेपी ने यहां की सभी लोकसभा सीटें जीतकर इतिहास दोहरा दिया था.

UP Chunav 2022: योगी आदित्‍यनाथ को गोरखपुर से ही टिकट क्‍यों? अब राधामोहन दास का क्या होगा? 

इस इलाके में अब लोकसभा के बाद विधानसभा में इतिहास दोहराने की बारी है. बीजेपी के लिए यह चुनौतीर्ण है. यहां यह देखना भी रोचक होगा कि बीजेपी मौजूदा विधायकों पर ही दांव लगाती है या फिर कुछ के टिकट काटकर नऐ चेहरों को मौका देती है. पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी ने जातीय संतुलन बनाकर यहां टिकटों का वितरण ​किया था और इस बार भी बुंदेलखंड की सभी सीटों पर बीजेपी की कोशिश जातीय समीकरण को साधे रखने की है.

कई सूची हो रहीं वायरल
बुंदेलखंड की सीटों पर प्रत्याशियों का अभी आधिकारिक ऐलान नहीं हुआ है. इसके पहले ही कई सूचियां वायरल हो रही हैं, जिसमें कुछ प्रत्याशियों का नाम काटे जाने की भी चर्चा है. वहीं बीजेपी के पदाधिकारियों ने इस सूची में बताए जा रहे नामों का पूरी तरह से खंडन किया है.

बुंदेलखंड में ये बने चुनावी मुद्दे
बुंदेलखंड में सूखा, बेरोजगारी, पलायन और किसान आत्महत्या अक्सर मुद्दा बनती रही है. यहां पानी की कमी भी सियासी मुद्दा बनी रही. यही वह इलाका है जहां पीने के लिए वाटर ट्रेन तक चलाई गई. बेरोजगारी फिलहाल यहां का बड़ा मुद्दा है और बीजेपी को इस पर जवाबी तर्कों के साथ मैदान में उतरना होगा, क्योंकि इस इलाके में बीएसपी और एसपी जातीय समीकरण फिट करते ही बीजेपी से सीटों को छीनने की रणनीति पर काम कर रही है.

Tags: Bundelkhand 19 Assembly Seat, Bundelkhand news, UP Assembly Election 2022, UP news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर