लाइव टीवी

मर्डर से एक दिन पहले कमलेश तिवारी ने ट्विटर पर शेयर की थी 16 मंदिर-मस्जिदों के नाम वाली ये लिस्ट

News18Hindi
Updated: October 19, 2019, 3:28 PM IST

कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) के बाद से ही सोशल मीडिया (Social Media) पर ये लिस्ट खूब शेयर (Share) हो रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 19, 2019, 3:28 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. हत्या से एक दिन पहले यानी 17 अक्टूबर को हिंदू महासभा (Hindu Mahasabha) के कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) ने ट्विटर (Twitter) पर एक लिस्ट शेयर (Share) की थी. ये लिस्ट मस्जिदों (Mosque) की है. लिस्ट में मस्जिदों के नाम के बराबर में ही मंदिरों (Temple) के नाम दिए गए हैं. साथ ही ये भी बताया गया है कि ये मस्जिदें किस शहर में स्थित हैं.

लिस्ट शेयर करने के पीछे ये था मकसद

कमलेश तिवारी ने अपनी हत्या से पहले जो लिस्ट शेयर की है उसमे 16 मस्जिदों के नाम गिनाए गए हैं. उनके साथ ही मंदिरों के नाम लिखते हुए कहा गया है कि ये मस्जिदें इन मंदिरों को तोड़कर बनाई गई हैं. लिस्ट में छठे नंबर पर अयोध्या के राम मंदिर का जिक्र किया गया है. वहीं पहले और दूसरे नंबर पर वाराणसी की ज्ञानवापी और आलमगीर मस्जिद का जिक्र किया गया है. सूची में सबसे आखिर में 16वें नंबर पर मथुरा की ईदगाह के बारे में लिखा गया है.

कमलेश तिवारी हत्याकांड की ये सीसीटीवी फुटेज न्यूज18 के पास एक्सक्लूसिव है.
कमलेश तिवारी हत्याकांड की ये सीसीटीवी फुटेज न्यूज़ 18 के पास एक्सक्लूसिव है


लिस्ट के साथ ही दिया ये संदेश
कमलेश तिवारी ने ट्विटर पर लिस्ट तो शेयर करने के साथ ही दो संदेश भी लिखे हैं. पहले संदेश में उन्होंने लिखा है, 'श्रीराम मंदिर के साथ बहुत मंदिरों का पुनः निर्माण होगा, संघर्ष करो हिंदुओं.' वहीं अपने दूसरे संदेश में लिखा, 'भारत में हजारों मंदिरों की जगह पर आज मस्जिदें खड़ी हैं.'



लखनऊ में ऐसे हुई कमलेश तिवारी की हत्या
बता दें कि कमलेश तिवारी की शुक्रवार को लखनऊ स्थित उनके घर में हत्या कर दी गई थी. पहले उन्हें गोली मारे जाने की खबर आई थी, लेकिन डॉक्टरों का कहना है कि तिवारी का किसी धारदार हथियार से गला रेता गया है. उधर पुलिस ने मौके से एक रिवाल्वर बरामद किया है. पुलिस ने आशंका जताई कि हत्याकांड को कमलेश तिवारी के ही किसी परिचित ने अंजाम दिया है. वारदात के बाद आरोपी फरार हो गया.

राज्य सरकार ने इस हत्याकांड की जांच के लिए एसआईटी का गठन किया है. पुलिस मामले में आरोपियों की सरगर्मी से तलाश में जुटी है.

ये भी पढ़ें-

BHU में बोले Amit Shah ‘कब तक हम वामपंथियों-इतिहासकारों को गाली और दोष देंगे’  

इस शहर में अचानक बढ़ गई नारियल की डिमांड, रोजाना 10 ट्रक भी पड़ रहे हैं कम

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए लखनऊ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 19, 2019, 7:57 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...