खेल-खेल में कार में बैठ गई मासूम, अंदर से लॉक हो गई कार; 18 घंटे बाद मृत मिली

पूरी रात बच्ची की तलाश में पुलिस और परिजन इधर-उधर खेतों में तलाशते रहे.

पूरी रात बच्ची की तलाश में पुलिस और परिजन इधर-उधर खेतों में तलाशते रहे.

Kannuj News: गांव में लाइट ना आने के कारण सुबह जब बच्ची के पिता का मोबाइल ऑफ हो गया, तो कार से मोबाइल चार्ज करने के लिए गया उसका दरवाजा खोला. परिजनों ने देखा कि बच्ची मृत अवस्था में कार की सीट के नीचे पड़ी हुई है.

  • Share this:

कन्नौज. बच्चों के साथ खेल रही चार साल की बच्ची खेल-खेल में घर के बाहर खड़ी चाचा की कार में बैठ गई. इसके बाद कार अंदर से लॉक हो गई. काफी देर बाद बच्ची ना मिलने पर घर वाले परेशान हो गए और उसकी तलाश शुरू कर दी. जगह जगह अनाउंस किया गया लेकिन बच्ची नहीं मिली. बच्ची के गुम होने की सूचना पुलिस को दी गई. मौके पर पुलिस ने पहुंचकर तलाश शुरू कर दी. पूरी रात बच्ची की तलाश की गई लेकिन बच्ची नहीं मिली. सुबह लगभग 9:00 बजे 18 घंटे के बाद बच्ची कार के अंदर मृत पाई गई. इसके बाद पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर परिजनों को सौंप दिया.

कोतवाली गुरसहायगंज क्षेत्र के ग्राम सूलन पुर निवासी विजय सिंह की चार साल की बेटी शुचि बच्चों के साथ घर के बाहर खेल रही थी. वहीं पर उसके चाचा महेंद्र सिंह की कार दरवाजे के बाहर खड़ी थी. शुचि कार में जाकर बैठ गई और अंदर से कार लॉक हो गई. पूरी रात बच्ची कार के अंदर बंद रही. उसके चाचा ने कार को कवर ढक दिया लेकिन उन्हें आभास नहीं हुआ कि बच्चे इसके अंदर है. पूरी रात बच्ची की तलाश में पुलिस और परिजन इधर-उधर खेतों में तलाशते रहे. बच्ची कहीं नहीं मिली.

गांव में लाइट ना आने के कारण सुबह जब बच्ची के पिता का मोबाइल ऑफ हो गया, तो कार से मोबाइल चार्ज करने के लिए गया उसका दरवाजा खोला. परिजनों ने देखा कि बच्ची मृत अवस्था में कार की सीट के नीचे पड़ी हुई है. इसके बाद घर में कोहराम मच गया. पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर सब परिजनों को सौंप दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज