कन्नौज पुलिस की दबंगई, चौकी इंचार्ज बोला- किसी को भी मिट्टी में मिला सकता है दरोगा

मानीमऊ इलाके के इस चौकी इंचार्ज ने दावा किया कि 302 के मुजरिम को बाहर से जमानत देने की ताकत रखते हैं सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच सकते हैं.

Lokesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 1, 2018, 6:47 PM IST
Lokesh Dubey | News18 Uttar Pradesh
Updated: July 1, 2018, 6:47 PM IST
कन्नौज पुलिस में तैनात एक दरोगा की दबंगई का एक वीडियो रविवार को सोशल मीडिया में तेजी से वायरल हो रहा है. इस वीडियो में दबंग चौकी इंचार्ज और एक सिपाही ग्रामीणों को धमकाते हुए खुद को राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री से ऊपर बता डाला. चौकी इंचार्ज राजेश कुमार का कहना है कि इस धरती पर सबसे ताकतवर दरोगा होता है. राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और मुख्य मंत्री सिर्फ आदेश दे सकता है. दरोगा तो किसी को भी मिट्टी में मिला सकता है. वहीं सिपाही ने धमकी भरे अंदाज में ग्रामीणों से कहा, मैं कई पीढ़ियों को खाक कर चुका हूं और अभी भी कर सकता हूं.

मानीमऊ इलाके के इस चौकी इंचार्ज ने दावा किया कि 302 के मुजरिम को बाहर से जमानत देने की ताकत रखते हैं सुप्रीम कोर्ट तक पहुंच सकते हैं. सीएम पीएम राष्ट्रपति आदेश दे सकते हैं, कार्यवाही नहीं कर सकते, जिसको चाहे पल भर में मिट्टी में मिलाने की ताकत रखते है, दरोगा को मजिस्ट्रेट से अधिक पावर है. मजिस्ट्रेट सिर्फ 151 की धारा में जमानत दे सकते हैं.

मामला सदर कोतवाली क्षेत्र के नेरा गांव का है. दबंग चौकी इंचार्ज राजेश कुमार अपने सिपाही के मकान मालिक और किराएदार के बीच के विवाद को लेकर घटना स्थल पर गए थे. जिसके बाद मानीमऊ चौकी में तैनात दरोगा राजेश कुमार पीड़ितों को ही धमकाने लगे जिसका वीडियो पीड़ितों ने बना लिया.  दरअसल, मकान मालिक और किरायेदार के झगड़े को निपटाने के लिए चौकी इंचार्ज राजेश यादव और सिपाही नेरा गांव में गए हुए थे. मकान मालिक पर ताला खोलने के लिए दबाव बना रहे थे.

यह भी पढ़ें:

स्विस बैंक में BJP के चहेते पूंजीपतियों के धन में 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है : मायावती

वाराणसी: पूर्व मंत्री गायत्री प्रजापति की बढ़ी मुश्किलें, एक और मुकदमा दर्ज

मगहर के बाद अब 'मुलायम के गढ़' में पीएम मोदी, आजमगढ़ में 14 जुलाई को भरेंगे हुंकार
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर