Home /News /uttar-pradesh /

former ips asim arun wins from kannauj sadar assembly seat and meet sp candidate anil kumar doharey nodark

UP Election Results: पूर्व IPS असीम अरुण जीत के बाद अचानक पहुंचे सपा कैंडिडेट के घर, जानें पूरा मामला

पूर्व IPS असीम अरुण ने भाजपा के टिकट पर चुनाव जीता है. (फोटो-असीम अरुण)

पूर्व IPS असीम अरुण ने भाजपा के टिकट पर चुनाव जीता है. (फोटो-असीम अरुण)

UP Election Results:यूपी की सियासत में पिछले काफी दिनों से पूर्व आईपीएस असीम अरुण (Former IPS Asim Arun) की जमकर चर्चा हो रही है. वहीं, उन्‍होंने कन्नौज सदर विधानसभा सीट से भाजपा के टिकट पर चुनाव लड़ते हुए सपा के तीन बार के विधायक को पटखनी दी है. हालांकि वह जीत के बाद अचानक सपा प्रत्याशी अनिल कुमार दोहरे से मिलने उनके घर पहुंच गए. इस बात की जानकारी भाजपा नेता ने खुद शेयर की है.

अधिक पढ़ें ...

कन्नौज. यूपी विधानसभा चुनाव के रिजल्‍ट (UP Election Results 2022) आने के बाद सियासी मूड कुछ अलग दिख रहा है. वहीं, पुलिस कमिश्नर का पद छोड़कर हाल ही में भारतीय जनता पार्टी के टिकट पर विधायक बनने वाले असीम अरुण (Former IPS Asim Arun) एक बात को लेकर इस वक्‍त चर्चा में हैं. दरअसल उन्होंने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी सपा के अनिल कुमार दोहरे को 6000 से ज्यादा वोटों से हराया है. कन्नौज सदर सीट पर दोहरे तीन बार के विधायक थे. चुनाव खत्म होने के बाद जब परिणाम आया तो यहां बड़ा उलटफेर था. अनुभवी अनिल दोहरे चुनाव हार चुके थे और ताजा-ताजा राजनीति में शामिल हुए असीम अरुण विधायक चुने गए.

कन्नौज सदर सीट पर भाजपा की जीत के बाद जिस वक्त असीम अरुण को बधाइयों का तांता लगा था. यही नहीं, लोग उन तक पहुंचने की कोशिश कर रहे थे, उसी दौरान नवनिर्वाचित विधायक ने एक ऐसा कदम उठाया जिसकी सब तरफ तारीफ हो रही है. दरअसल असीम अरुण अपने प्रतिद्वंद्वी सपा प्रत्याशी अनिल दोहरे से मिलने उनके घर पहुंच गए.

ट्विटर पर शेयर की ये जानकारी
यही नहीं, भाजपा कैंडिडेट असीम अरुण ने अपने प्रतिद्वंद्वी सपा प्रत्याशी से मुलाकात की जानकारी खुद अपने ट्विटर हैंडल पर साझा की. उन्‍होंने लिखा ‘आदरणीय बड़े भाई अनिल दोहरे जी से उनके घर पर आशीर्वाद प्राप्त किया. अनिल भाई के विरुद्ध चुनाव में प्रतिभाग करना बहुत कठिन कार्य था. आपका पंद्रह वर्षों का विस्तृत अनुभव रहा है एवं साथ मिलकर विकास कार्य करने पर सहमति बनी.’

जीत के बाद सफाई में जुटे
इसके अलावा कन्नौज की सदर सुरक्षित सीट से भाजपा के नवनिर्वाचित विधायक और पूर्व पुलिस कमिश्नर असीम अरुण ने जीत हासिल करने के बाद जो किया उसे हर कोई हैरान रहग गया. मतगणना खत्म होने के बाद जैसे ही निर्वाचन अधिकारी ने असीम अरुण की जीत का ऐलान किया. वह बिना ज्यादा वक्त गंवाए मतगणना स्थल पर फैली गंदगी को साफ करने में जुट गए. इसके बाद हर कोई उनको देखकर हैरान था.

मध्य प्रदेश से है गहरा नाता
असीम अरुण मध्य प्रदेश में स्कूल शिक्षा प्रमुख सचिव रश्मि अरुण शमी के भाई हैं. उनके पिता श्रीराम अरुण यूपी के डीजीपी रह चुके हैं. असीम अरुण 1994 बैच के आईपीएस अधिकारी रहे हैं. पिछले साल मार्च में उन्होंने कानपुर पुलिस कमिश्नर की जिम्मेदारी संभाली ली थी. इससे पहले असीम अरुण एटीएस चीफ के पद पर नियुक्त थे. उनका जन्म तीन अक्टूबर 1970 को बदायूं में हुआ. वहीं, वह वीआरएस लेकर यूपी की राजनीति में उतरे हैं. हालांकि चुनाव के दौरान सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने उन पर जमकर हमला किया था.

Tags: UP election results, UP Election Results 2022

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर