शादी के लिए 10 दिनों तक प्रेमी के घर की चौखट पर बैठी रही प्रेमिका, आखिरकार जीता प्यार

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कन्नौज (Kannauj) के सौरिख में दस दिन से एक प्रेमिका अपने प्रेमी (Lover) के घर की चौखट पर डेरा डाले बैठी रही. आखिरकार उसे जीत मिली और दोनों परिवारों को इनके प्रेम के आगे झुकना पड़ा.

  • Share this:

कन्नौज. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कन्नौज (Kannauj) के सौरिख में दस दिन से एक प्रेमिका अपने प्रेमी (Lover) के घर की चौखट पर डेरा डाले बैठी रही. आखिरकार उसे जीत मिली और दोनों परिवारों को इनके प्रेम के आगे झुकना पड़ा.  दरअसल सौरिख के अनुज यादव और इावा की रहने वाली शिवा यादव के बीच प्रेम संबंध था, लेकिन दोनों के ही परिवार वालों को इस प्रेम से ऐतराज था. ऐसे में अपना प्रेम पाने शिवा यादव अपने प्रेमी अनुज यादव के घर पहुंची और पिछले दस दिनों से उसकी चौखट पर ही डेरा डाले रखा. आखिरकार परिजनों का दिल पिघला और इनके प्यार की जीत हुई. दोनों तरफ के परिजनों की मौजूदगी में बालाजी मंदिर में दोनों ने एक दूसरे को वर माला पहनाई. मौजूद लोगों ने दोनों को आशीर्वाद दिया.

बता दें कि इटावा की भरथना कोतवाली के ग्राम नगला अजीत की रहने वाली शिवा यादव का प्रेम प्रसंग थाना क्षेत्र के ग्राम नगला विशुना निवासी अनुज यादव पुत्र कुंवर बहादुर यादव से काफी समय से चल रहा था. दोनों ने शादी करने के लिए कहा तो अनुज के परिजन तैयार नहीं हुए. इस पर शिवा ने अनुज को अपनाने के लिए अपना घर छोड़ दिया.

ताला लगाकर गायब हो गए थे परिजन

शिवा यादव 13 मई को पचास किलोमीटर दूर अनुज के घर आ गई. शिवा को दरवाजे पर देख अनुज परिजनों सहित मकान में ताला लगाकर गायब हो गया. इससे शिवा ने अनुज को पाने के लिए उसके घर के बरामदे में धरना दे दिया. शिवा को हटाने के लिए अनुज के परिजनों ने हर हथकंडा अपनाया. वह डटी रही. आखिरकार शिवा का त्याग रंग लाया. रिश्तेदारों ने पहल कर दोनों का विवाह सकरावा के बालाजी मंदिर में करा दिया. मंदिर में हुई शादी में अनुज के माता-पिता शामिल नहीं हुए. शादी की सभी रस्में शिवा के पिता सतीश यादव ने निभाईं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज