लाइव टीवी

कन्नौज: राशन न बांटने के आरोप में बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने तहसीलदार को पीटा, केस दर्ज
Kannauj News in Hindi

News18 Uttar Pradesh
Updated: April 8, 2020, 7:54 AM IST
कन्नौज: राशन न बांटने के आरोप में बीजेपी सांसद सुब्रत पाठक ने तहसीलदार को पीटा, केस दर्ज
कन्नौज सदर के तहसीलदार अरविन्द कुमार

तहसीलदार की तहरीर पर बीजेपी सांसद (BJP MP) सहित चार नेताओं और 25 के अज्ञात खिलाफ का मुकदमा दर्ज किया गया है.

  • Share this:
कन्नौज. लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान गरीबों में राशन ठीक तरह से वितरित न करने के आरोप में बीजेपी सांसद (BJP MP) सुब्रत पाठक और उनके समर्थकों पर तहसीलदार को उनके सरकारी घर में घुसकर पीटने का आरोप लगा है. मामले में सांसद सुब्रत पाठक समेत 25 लोगों पर केस दर्ज किया गया है. इसकी जानकारी कानपुर रेंज आईजी मोहोत अग्रवाल ने दी. आईजी के मुताबिक, तहसीलदार की तहरीर पर सांसद सहित चार नेताओं और 25 के अज्ञात खिलाफ का मुकदमा दर्ज किया गया है.

जानकारी के मुताबिक, सांसद ने गरीबों की एक लिस्ट बनाकर खाने का पैकेट वितरण करने को कहा था. इसकी सूची कन्नौज सदर के तहसीलदार अरविन्द कुमार को सौंपी गई थी. लेकिन, उनके दफ्तर को शिकायत मिली कि लोगों को राशन नहीं मिल रहा है. आरोप है कि इस पर सांसद भड़क गए और वे तहसीलदार अरविन्द कुमार के सरकारी आवास पहुंच गए. इस दौरान सांसद व उनके समर्थकों ने तहसीलदार को पीटा.

डीएम ने कही ये बात
मामले में डीएम ने कहा कि तहसीलदार की तरफ से मुझे फोन पर सूचना दी गई थी कि स्थानीय सांसद द्वारा उनके साथ फोन पर गाली-गलौज और धमकी दी गई है.सांसद का आरोप था कि उनके द्वारा दी गई लिस्ट पर राशन का वितरण नहीं हुआ. इस पर हमने आश्वासन दिया था कि लिस्ट की जांच कराकर राशन उपलब्ध करा दिया जाएगा. इसके बाद फिर तहसीलदार का फोन आया कि उनके साथ मारपीट हुई है. मैं तो मौके पर मौजूद नहीं था, लेकिन इस मामले में नामजद एफआईआर दर्ज कराई जाएगी.



तहसीलदार का है ये आरोप


तहसीलदार अरविन्द कुमार का आरोप है कि सांसद ने उनके साथ फोन कर गाली-गलौज की. उन्‍होंने कहा, 'मैंने बार-बार कहा कि सूची में जिन लोगों का नाम है, उन्हें चिन्हित करवाकर राशन मुहैया करवाया जा रहा है, लेकिन उन्होंने धमकी दी कि मैं तुम्‍हें मारने तहसील आ रहा हूं. इसके बाद मैंने इसकी सूचना एडीएम और एसडीएम को दी. एसडीएम साहब ने कहा कि तुम अपने घर चले जाओ. इसके बाद सांसद महोदय अपने 20-25 समर्थकों के साथ मेरे सरकारी आवास पर पहुंचे और जोर-जोर से दरवाजा पीटने लगे. यह देख मेरी पत्नी और बच्चे डर गए. जब मैं बाहर आया तो उन्होंने पूछा राशन क्यों नहीं दिया. इस पर मैंने कहा कि चिन्हित कर राशन मुहैया करवाया जा रहा है, लेकिन उन्होंने मुझे मारना शुरू कर दिया. यह देख उनके समर्थक भी मुझे पीटने लगे.'

सांसद का आरोप- तहसीलदार ने हमारे समर्थकों को पीटा
उधर, सांसद सुब्रत पाठक के अनुसार, वह किसी के घर नहीं गए थे. दो दिन पहले ही दिल्ली से लौटे हैं. लोगों तक राशन नहीं पहुंच रहा है. तहसीलदार को फोन कर इसकी सूचना दी तो वह गालीगलौज करने लगे. उनके समर्थक जब शिकायत करने वालों की सूची लेकर पहुंचे तो उन्हें डंडे से पीटा. वह अब मुख्यमंत्री से लिखित शिकायत करेंगे

कांग्रेस ने की निंदा
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने घटना की निंदा की. उन्होंने कहा कि सुब्रत पाठक ने जनप्रतिनिधि की मर्यादा का उल्लंघन किया है. जिस वक्त देश के सांसद और नौकरशाही के साथ कदम से कदम मिलाकर काम करने की जरूरत है, उस वक्त बीजेपी के नेता जनता और नौकरशाही में खौफ पैदा करने में जुटे हैं. सीएम को चाहिए कि वह सांसद के खिलाफ कार्रवाई करें. पीएम ऐसे सांसद को संसद से बाहर का रास्ता दिखाएं.

(इनपुट: लोकेश दुबे)

ये भी पढ़ें- प्रदेश में किसानों की हालत बेहद खराब, नुकसान की भरपाई के लिए अलग से मुआवजा दे राज्य सरकार: अखिलेश यादव

COVID-19: लॉकडाउन तोड़ने पर 10803 FIR दर्ज, बतौर जुर्माना वसूले 4.97 करोड़ रुपये

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कन्नौज से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 8, 2020, 7:48 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading