कन्नौजः केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने की पिछड़ा वर्ग मंत्रालय बनाने की मांग

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार पिछड़ों के विकास के लिए काम कर रही है और पिछड़े वर्ग की अलग से जनगणना इसका सबूत है. उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग की अलग जनगणना का बड़ा फायदा पिछड़े वर्ग से जुड़े लोगों को मिलेगा

  • Share this:
कन्नौज जिले में बुधवार को दौरे पर पहुंची अपना दल प्रमुख व केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल ने सरकार से पिछड़ा वर्ग मंत्रालय बनाने की मांग की है. उन्होंने वर्ष 2021 में होने वाली पिछड़ा वर्ग की जातिगत जनगणना को ऐतिहासिक बताया. वहीं, 2019 के चुनावों में सीटों के बंटवारे पर उन्होंने कहा कि अपना दल सम्मानजनक सीटों पर चुनाव लड़ेगा.

यह भी पढ़ें-2019 के रण में विपक्ष के पास न नीति है न चेहराः केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल

गौरतलब है केंद्रीय मंत्री अपने पिता डॉ. सोनेलाल पटेल की 10वीं पुण्यतिथि उनके कन्नौज स्थित पैतृक गांव बगुलिहाई में बनाने की योजना बनाने के लिए कन्नौज पहुंची थीं. कार्यक्रम के मुताबिक पैतृक गांव में उन्होंने डॉ. सोनेलाल पटेल की प्रतिमा का अनावरण किया और अपने बाबा और दादी के नाम पर उन्होंने एक सामुदायिक केंद्र की जमीन पर भूमि पूजन भी किया.



मीडिया से बातचीत में केंद्रीय मंत्री ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार पिछड़ों के विकास के लिए काम कर रही है और पिछड़े वर्ग की अलग से जनगणना इसका सबूत है. उन्होंने कहा कि पिछड़े वर्ग की अलग जनगणना का बड़ा फायदा पिछड़े वर्ग से जुड़े लोगों को मिलेगा. उन्होंने पिछड़ा वर्ग मंत्रालय बनाने की मांग करते हुए कहा कि पिछड़ा वर्ग मंत्रालय बनने से योजनाओं का सही से पालन हो पाएगा.
यह भी पढ़ें-यूपी चुनाव: वर्चस्व की जंग में इस बेटी ने मां को दी कुछ ऐसे मात

वहीं, पांच राज्यों में होने वाले चुनाव पर मंत्री अनुप्रिया पटेल ने कहा कि एनडीए इन चुनावों में अच्छा प्रदर्शन करेगी जबकि लोकसभा चुनाव में भाजपा के साथ सीटों के बंटवारे पर उन्होंने कहा कि अभी यह तय नही हुआ है कि कितनी सीटों पर अपना दल के प्रत्याशी लड़ेंगे. हालांकि उन्होंने  कहा कि इतना तय है कि सम्मानजनक सीटों पर अपना दल प्रत्याशी उतारेगी.

यह भी पढ़ें-यूपी निकाय चुनाव में अनुप्रिया पटेल ने किया बीजेपी से किनारा

हालांकि केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की कन्नौज में बढ़ती सक्रियता से राजनीतिक गलियारों में चर्चा थी कि इस बार लोकसभा चुनाव में वो अखिलेश यादव के खिलाफ मैदान में उतर सकती हैं, लेकिन जब इस बारे में उनसे सवाल किया गया तो उन्होंने कन्नौज से चुनाव लड़ने की बात से इनकार करते हुए कहा कि वो मिर्जापुर से ही लोकसभा चुनाव लड़ेंगी.

(रिपोर्ट-लोकेश दुबे, मिर्जापुर)
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज