रीवा महल में डकैती का खुलासा, शाही खंजर के साथ बेशकीमती मूर्तियां बरामद
Kannauj News in Hindi

मध्यप्रदेश के जिला रीवा के महाराजा मार्तंड सिंह के किले में हुई डकैती का खुलासा कन्नौज पुलिस ने कर दिया है. जिसमें पुलिस ने लुटेरों के पास से शाही खंजर सहित कई बेशकीमती प्राचीन मूर्तियां भी बरामद की है. जिनकी कीमत करोड़ों की है.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले की पुलिस ने पांच साल पहले मध्यप्रदेश के रीवा जिले के राजमहल में हुई 50 करोड़ रुपये की डकैती का खुलासा किया है. पुलिस ने पांच साल से फरार चल रहे अंतरराज्यीय गैंग के गिरोह के सरगना और 15 हजार रुपये के इनामी सहित तीन लोगों को मुठभेड़ के बाद गिरफ्तार कर लिया.

एएसपी केशव चंद्र गोस्वामी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि सर्विलांस प्रभारी कुलदीप दीक्षित की टीम ने तिर्वा थाना क्षेत्र से बुधवार देर रात रामनगर ठठिया कन्नौज निवासी 15 हजार रुपये के इनामी शातिर कुंवर पाल बंजारा को मुठभेड़ में गिरफ्तार किया. उसकी निशानदेही पर ठठिया के बस्ता निवासी फहीम और राजा उर्फ अनस को दबोचा गया.

केशव चंद्र गोस्वामी ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों ने आठ अगस्त, 2012 को मध्यप्रदेश में महाराजा मार्तंड सिंह के राजमहल में 50 करोड़ रुपये की डकैती और हत्या, तिर्वा की अन्नपूर्णा देवी मंदिर में लाखों के छत्र और जेवरात लूट, विधाईपुरवा में डकैती, कन्नौज तिर्वा रोड पर नजापुर में आधा दर्जन सराफा दुकानों में लूटपाट, दौलेश्वर धाम में लूटपाट की वारदातें कबूल की हैं.



एएसपी ने बताया कि बदमाशों के कब्जे से ऐतिहासिक रीवा राजमहल से लूटा गया लाखों का माल, वर्ष 950 ईस्वी का शाही खंजर, मूर्तियां, तमंचा, चाकू सहित अन्य जेवरात बरामद हुए हैं. तीनों शातिर पांच साल से फरार चल रहे थे. प्रदेश के साथ मध्यप्रदेश, राजस्थान, दिल्ली, बिहार, उत्तराखंड ,पश्चिम बंगाल, नेपाल तक वारदातों को अंजाम दे चुके हैं.


गोस्वामी ने बताया कि मुख्य सरगना कुंवर पाल बंजारा पर हत्या, लूट, डकैती के करीब डेढ़ दर्जन मुकदमें विभिन्न थानों में दर्ज हैं. एसपी हरीश चंदर ने पुलिस टीम को दस हजार रुपये इनाम देने की घोषणा की है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज