पुलवामा हमला: 'मैं फोन पर बात कर रही थी तभी तेज़ धमाका हुआ, फिर सन्नाटा छा गया...'
Kannauj News in Hindi

पुलवामा हमला: 'मैं फोन पर बात कर रही थी तभी तेज़ धमाका हुआ, फिर सन्नाटा छा गया...'
प्रतीकात्मक तस्वीर

'मैं अपने पति से फोन पर बात कर रही थी तभी मैंने बहुत तेज़ धमाके की आवाज़ सुनी. उसके बाद एकदम से सन्नाटा छा गया और फोन कट गया.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 19, 2019, 11:02 AM IST
  • Share this:
जम्मू-कश्मीर के पुलवामा गुरुवार को हुए आतंकी हमले में कई सीआरपीएफ जवान शहीद हुए. इस आतंकी हमले में सीआरपीएफ के करीब 40 जवानों ने जान गंवाई. इन 40 जवानों एक प्रदीप सिंह यादव भी थे. जिस वक्त ये हादसा हुआ उस वक्त प्रदीप कुमार अपनी पत्नी से फोन पर बात कर रहे थे. अंग्रेजी वेबसाइट इंडिया टाइम्स के मुताबिक जिस वक्त आतंकवादियों ने ये आत्मघाती हमला किया उस समय प्रदीप कुमार पत्नी से फोन पर बात कर रहे थे.

प्रदीप कुमार की पत्नी ने इंडिया टाइम्स को बताया कि- 'मैं अपने पति से फोन पर बात कर रही थी तभी मैंने बहुत तेज़ धमाके की आवाज़ सुनी. उसके बाद एकदम से सन्नाटा छा गया और फोन कट गया.' प्रदीप की पत्नी नीरज ने बताया कि ‘मैंने उनकी खैर-ख़बर जानने की कई बार कोशिश की लेकिन कुछ मालूम नहीं चल पाया, मुझे लगा कि मेरा सबकुछ खत्म हो चुका है.’

ये भी पढ़ें :-  पुलवामा हमले का भारतीय सेना ने लिया बदला, मास्टरमाइंड मुठभेड़ में ढेर



प्रदीप की पत्नी ने बताया कि थोड़ी देर बार मुझे एक और फोन आया, इस बार यह फोन सीआरपीएफ कंट्रोल रूम से था. उन्होंने मुझे धमाके में मेरे पति की मौत की ख़बर देने के लिए फोन किया था.
प्रदीप अपने पीछे अपनी पत्नी और दो बेटियों सुप्रिया और सोना को छोड़ गए हैं. सुप्रिया की उम्र 10 साल है तो वहीं सोना अभी सिर्फ 2 साल की है. जब उनकी पत्नी यह ख़बर मिली तब वह अपनी मां के घर कानपुर गई हुई थीं. प्रदीप की पत्नी ने बताया कि वह सोना से बहुत प्यार करते थे जिस दिन यह हादसा हुआ उसी दिन प्रदीप ने सोना के बारे में उनसे करीब 10 मिनट तक बात की.

ये भी पढ़ें- भारत के इस मंदिर को सोचकर घबराते हैं पाकिस्तान के सैनिक, जानिए पूरी कहान

उनके परिवार के एक सदस्य ने बताया कि प्रदीप से बात करने के थोड़ी देर बाद ही नीरज की चीख सुनाई दी. कंट्रोल रूम से फोन आने के बाद वह पूरी तरह से टूट गई. शहीद प्रदीप को याद करते हुए उनके स्कूल टीचर्स ने बताया कि वह स्कूल में बेहद ही अच्छे छात्र रहे. वह बहुत कम उम्र से ही देश की सेवा करना चाहते थे.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

 

 

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading