Home /News /uttar-pradesh /

IT Raid: फैक्ट्री में मिली अंडरग्राउंड टंकी, सील तोड़ी तो अंदर से निकला खजाना, जानें कहां-कहां छुपा रखा था पैसा

IT Raid: फैक्ट्री में मिली अंडरग्राउंड टंकी, सील तोड़ी तो अंदर से निकला खजाना, जानें कहां-कहां छुपा रखा था पैसा

DGGI द्वारा ने पीयूष जैन के कन्नौज स्थित ठिकानों पर छापेमारी के दौरान भारी कैश और सोना मिला है.

DGGI द्वारा ने पीयूष जैन के कन्नौज स्थित ठिकानों पर छापेमारी के दौरान भारी कैश और सोना मिला है.

Piyush Jain Kannauj Raid Big Update: DGGI द्वारा ने पीयूष जैन के कन्नौज स्थित ठिकानों पर छापेमारी के दौरान भारी कैश और सोना मिला है. फैक्ट्री पर जब छापेमारी की तो वहां अंडरग्राउंड टंकी में 17 करोड़ कैश और 23 किलो सोना मिला है. सोने पर इंटरनेशनल मार्का है. पीयूष को गिरफ्तारी के बाद कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

अधिक पढ़ें ...

    कन्नौज. DGGI द्वारा ने पीयूष जैन (Piyush Jain) के कन्नौज (Kannauj) स्थित ठिकानों पर छापेमारी के दौरान भारी कैश और सोना मिला है. फैक्ट्री पर जब छापेमारी की तो वहां अंडरग्राउंड टंकी मिली. सील की गई इस टंकी में 17 करोड़ कैश और 23 किलो सोना मिला है. सोने पर इंटरनेशनल मार्का है. छापेमारी के दौरान पूरे इलाके में गहमा गहमी रही. पुलिस का भी भारी पहरा लगा रहा. इस कर्रवाई के बाद पीयूष जैन को गिरफ्तार कर लिया गया. मेडिकल कराने के बाद पीयूष को कोर्ट में पेश किया गया जहां से उन्हें 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है.

    इत्र कारोबारी पीयूष जैन के तमाम आवास और गोदामों पर इनकम टैक्स की छापेमारी के बाद जो बरामदगी हुई उसके बाद यह कार्रवाई चर्चा में आ गई. करोड़ों की नकदी के साथ कई किलो सोना और चांदी मिलने से अधिकारियों की नींद उड़ गई. इससे यूपी का सियासी पारा भी चढ़ गया.

    मिली बेहिसाब संपत्ति
    आईटी और जीएसटी विभाग की ओर से की गई कार्रवाई में 187 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाबी नकदी बरामद हुई. साथ ही बेहिसाब कच्चा और तैयार माल बरामद होने के बाद उसे सीजीएसटी अधिनियम की धारा 67 के तहत गिरफ्तार किया गया था.

    पीयूष ने किया ये खुलासा
    गिरफ्तारी पर डीजीजीआई ने कहा है कि पीयूष जैन ने यह स्वीकार किया है कि आवासीय परिसर से जो नकदी बरामद हुई है वह जीएसटी के भुगतान के बिना माल की बिक्री से संबंधित है. ओडोकेम इंडस्ट्रीज, कन्नौज द्वारा बड़े पैमाने पर जीएसटी की चोरी का संकेत मिला है. रिकॉर्ड में उपलब्ध सबूतों को जुटाया गया है.

    कौन हैं पीयूष जैन
    दरअसल, पीयूष जैन कन्नौज और कानपुर का एक बड़ा इत्र व्यापारी है. पीयूष का जन्म कन्नौज में हुआ है और वहां पर भी इसका एक घर है. जैन 40 से ज्‍यादा कंपनियों का मालिक है और चौंकाने वाली बात ये है कि इसकी दो कंपनियां मिडिल ईस्ट में भी मौजूद हैं. कन्नौज में जैन की इत्र फैक्ट्री के साथ ही कोल्ड स्टोरेज और पेट्रोल पंप भी मौजूद हैं. पीयूष ने अपनी कंपनियों का हैडऑफिस मुंबई में बना रखा है और यहीं से इसकी कंपनी का इत्र विदेशों में एक्सपोर्ट होता है. जानकारी के अनुसार मुंबई में भी पीयूष का एक आलीशान आशियाना है.

    बिस्तर में भरे थे नोट
    जैन के घर आयकर विभाग और डीजीजीआई की टीम ने छापेमारी की और ये कार्रवाई करीब 36 घंटों तक चली. इस दौरान अधिकारियों को करीब 180 करोड़ रुपये नकद मिले. हालात ये थे कि दीवारों, अलमारियों के साथ ही नोटों की गड्डियां बिस्तरों में भी भरी हुई थीं. इतने रुपयों को ले जाने के लिए अधिकारियों को भी अच्छी खासी मेहनत करनी पड़ी और इसके लिए 80 बक्से मंगवाए गए. छापेमारी के दौरान घर के अंदर और बाहर दोनों जगह पुलिस बल को तैनात किया गया था.

    Tags: Kannauj news, Piyush Jain Arrested, Piyush jain black money, Piyush Jain Judicial Custody, Piyush Jain Kannauj Raid

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर