UP Covid-19 Update: 17 दिन का मासूम कोरोना पॉजिटिव, चिंता में स्वास्थ्य विभाग, संक्रमित मां के साथ कैसे करें इलाज?
Kanpur News in Hindi

UP Covid-19 Update: 17 दिन का मासूम कोरोना पॉजिटिव, चिंता में स्वास्थ्य विभाग, संक्रमित मां के साथ कैसे करें इलाज?
सांकेतिक तस्वीर

COVID-19: कानपुर में 17 दिन के बच्‍चे के Corona पॉजिटिव होने से डॉक्‍टरों की चिंता बढ़ गई है.

  • Share this:
कानपुर. शहर में कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर जारी है. भले ही बीते 48 घंटों में इससे संक्रमितों के आंकड़ों में कमी आई हो, मगर लैब से आई एक रिपोर्ट ने स्वास्थ्य महकमे में हलचल मचा दी है. पूरा मामला कर्नलगंज के पेशकार रोड की रहने वाली एक महिला से जुड़ा है. महिला को प्रसव पीड़ा हुई थी और 17 दिन पहले ही उन्‍होंने बेटे को जन्म दिया. इसके बाद डॉक्टर्स ने उसे डिस्चार्ज करक घर भेज दिया. वह जिस इलाके कर्नलगंज की रहती हैं, वह रेड जोन है और उस क्षेत्र से 60 से ज्यादा मरीजों को कोरोना पॉजिटिव निकला है.

कानपुर के कर्नलगंज के रहने वाले 2 लोगों की कोरोना संक्रमण से अब तक मौत भी हो चुकी है, लेकिन उसके बावजूद भी स्वास्थ्य महकमे ने डिलीवरी और अस्पताल से डिस्चार्ज दौरान महिला का कोरोना टेस्ट नहीं कराया. दोबारा जब स्वास्थ्य महकमे की टीम ने ब्लड सैंपलिंग की. इसके बाद स्वास्थ्य महकमे में हलचल मच गई.

महिला और नवजात भी पॉजिटव
जांच के बाद महिला कोरोना पॉजिटिव निकली और साथ ही नवजात में भी कोरोना का संक्रमण निकला. इसके बाद महिला को अस्पताल में शिफ्ट कराया गया. बच्चा बहुत छोटा था और तब तक उसकी रिपोर्ट नहीं आई थी. अब रिपोर्ट आने के बाद से स्वास्थ्य महकमा एक बार फिर हरकत में आया और इस बात की कवायद शुरू की गई कि 17 दिन के बच्चे को कैसे इलाज मिले. स्वास्थ्य महकमे की टीम ने नवजात की दादी के साथ उसको अस्पताल तक ले कर आई. बाद में जिस वार्ड में नवजात की मां थी, उसी में इसे भी भर्ती करा दिया गया.
ये बड़ी चुनौती


17 दिन के बच्चे का इलाज कैसे हो यह स्वास्थ्य महकमे के लिए सबसे बड़ी चुनौती है, क्योंकि इस दौरान ड्रिप भी लगाना पड़ता है और दवाइयां भी देनी पड़ती है. कानपुर सीएमओ अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि कर्नलगंज के पेशकार रोड निवासी का 17 दिन पहले प्रसव हुआ था. जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आई तो जाजमऊ के ईएस आई अस्पताल में भर्ती कराया गया और बाद में नवजात की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद भी उसे भी उस अस्पताल में लाया गया दोनों का इलाज चल रहा है.

ये भी पढ़ें:
बिहार: मुजफ्फरपुर में मजदूरों के साथ फिर सड़क हादसा, चलती बस से 5 गिरे

परमाणु उर्जा के क्षेत्र में भारत ने बनाया नया रिकॉर्ड, अब मिसाइल हमले से भी महफूज रहेगी ये खास बिल्डिंग
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज