2 भाइयों ने किताब पढ़कर रची 70 हजार लूट की कहानी, पड़ोसी को फंसाने की कोशिश, गिरफ्तार
Kanpur News in Hindi

2 भाइयों ने किताब पढ़कर रची 70 हजार लूट की कहानी, पड़ोसी को फंसाने की कोशिश, गिरफ्तार
कानपुर में दो भाई गिरफ्तार किए गए हें, इन्होंने अपने साथ लूट की झूठी कहानी गढ़ी थी.

कानपुर (Kanpur): थानाध्यक्ष अतुल ने बताया कि लूट जैसी कोई घटना नहीं हुई थी. जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो किसान पवन फूट-फूट कर रोने लगा. उसने पुलिस को बताया कि उन दोनों भाइयों ने मिलकर यह लूट की झूठी कहानी गढ़ी. दरअसल उन्हें लोगों की उधारी चुकानी थी और उन्हें कुछ रास्ता नहीं सूझ रहा था.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में सचेंडी के किसान नगर में हुई 70 हजार रुपये की लूट (Loot) का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस के अनुसार 2  भाइयों ने अपने साथ ही ये लूट की झूठी कहानी रची थी. क्षेत्राधिकारी ऋषिकेश यादव ने बताया की पुलिस को बिठूर निवासी किसान पवन ने सूचना दी की बैंक से 70,000 निकालकर जब वह अपने गांव की तरफ जा रहे थे, तभी रास्ते में 2 बाइक सवार युवकों ने उनके साथ लूट को अंजाम दिया. सूचना के बाद पुलिस हरकत में आई और वाहन चेकिंग अभियान चलाया गया. वादी के बताए गए कद काठी और बाइक नंबर के आधार पर सचेंडी थाना अध्यक्ष अतुल कुमार ने SWAT के प्रभारी निरीक्षक दिनेश यादव की टीम के साथ कई गांव में रात भर दबिश दी. वादी द्वारा जिस मोटरसाइकिल के नंबर का जिक्र किया गया, वह वादी के घर के ठीक बगल में रहने वाले 18 वर्षीय कल्लू नामक युवक की थी. पुलिस ने युवक को पूछताछ के लिए उठाया.

उधारी से परेशान थे

थानाध्यक्ष अतुल ने बताया कि लूट जैसी कोई घटना नहीं हुई थी. जब कड़ाई से पूछताछ की गई तो किसान पवन फूट-फूट कर रोने लगा. उसने पुलिस को बताया कि उन दोनों भाइयों ने मिलकर यह लूट की झूठी कहानी गढ़ी. दरअसल उन्हें लोगों की उधारी चुकानी थी और उन्हें कुछ रास्ता नहीं सूझ रहा था. उन्होंने कुछ कहानियां क्राइम बुक में पड़ी थीं, जिसके आधार पर उनके दिमाग में यह प्लान तैयार हुआ कि कैसे पड़ोस में रहने वाले परिवार को फंसाया जा सकता है. जिससे वह एक तीर से दो निशाने लगा सकेंगे.



पड़ोसी से बदला लेने की भी साजिश



पहला लेनदार उनसे पैसा नहीं ले पाएंगे और दूसरा पड़ोस में रहने कल्लू और उसके परिवार वाले, जिसकी उनसे रंजिश चलती थी, उन्हें झूठे आरोप में जेल भिजवा सकेंगे. दोनों भाइयों पवन और विनोद ने इस कहानी में अपने-अपने किरदार निभाए. पवन ने भौंती स्थित ग्रामीण बैंक से 70 हजार रुपये निकाले और सचेंडी पुलिस को लूट की सूचना दी. वहीं दूसरे भाई विनोद ने उन रुपयों को अपने घर में जाकर छिपा दिया. पुलिस ने दोनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है. जांच में पता चला कि इससे पूर्व 2015 में बिठूर थाना क्षेत्र में इनके खिलाफ 420 का मुकदमा भी दर्ज है.

ये भी पढ़ें:

UP में अब तक करीब 5 करोड़ लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग, 3 लाख की कोरोना जांच

69000 सहायक शिक्षकों की भर्ती प्रक्रिया पर HC की लखनऊ बेंच ने लगाई रोक
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading