अपना शहर चुनें

States

UP Panchayat Chunav 2021: कानपुर में नगर पंचायतों के बढ़ने से घट गईं ग्राम पंचायतें, आरक्षण पर टिकी दावेदारों की नजर

उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने है.
उत्तर प्रदेश में त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव होने है.

नए परिसीमन के अनुसार नगर पंचायत की संख्या बढ़ गयी हैं जिसके चलते ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत की संख्या घट गयी है. ऐसे में अब चुनाव लड़ने के लिए उत्सुक उम्मीदवार अब आरक्षण पर नजरें टिकाए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 8:11 AM IST
  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव (Panchayat Election) को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां लगभग अंतिम चरण में हैं. जिला और पंचायत स्तर पर चुनाव को लेकर अलर्ट जारी है. हर स्तर पर कर्मचारियों को ​प्रशिक्षण देकर चुनाव के लिए तैयार किया जा रहा है. चुनाव की तारीखों का ऐलान कभी भी किया जा सकता है. वहीं नए परिसीमन के अनुसार नगर पंचायत की संख्या बढ़ गयी हैं जिसके चलते ग्राम पंचायत, क्षेत्र पंचायत और जिला पंचायत की संख्या घट गयी है.

जानकारी के मुताबिक जिले में मूसानगर, राजपुर, कंचौसी और रानिया नई नगर पंचायत बनने और नगर पालिका पुखरायां का विस्तार होने के चलते क्षेत्र, ग्राम और जिला पंचायत सीटों में कमी आ गयी है. ऐसे में अब चुनाव लड़ने के लिए उत्सुक उम्मीदवार अब आरक्षण पर नजरें टिकाए हैं. अब अगर आरक्षण दावेदारों के मुताबिक ना हुआ तो चुनावी मैदान में उतरने से पहले दावेदारों को एक बड़ा झटका भी लग सकता है.

बता दें कि कानपुर जिले में 4 पदों पर चुनाव होने हैं. इसके लिए करीब 50 लाख मतपत्र जिला निर्वाचन कार्यालय में पहुंचा दिए गए हैं. इसके साथ नई मतदाता सूची (Voter List) का अंतिम प्रकाशन 22 जनवरी को करने की तैयारी निर्वाचन आयोग कर रहा है. बताया जा रहा है कि प्रदेशभर में एक साथ ही वोटर लिस्ट का प्रकाशन होगा.



मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, कानपुर में चुनाव के लिए कर्मचारियों, अधिकारियों की ऑनलाइन ड्यूटी लगाने की प्रक्रिया भी अब शुरू कर दी गई है. पूरे चुनाव में कुल 12 हजार कर्मचारियों की तैनाती की जाएगी. इसमें से 10 हजार ड्यूटी पर होंगे, जबकि करीब 2000 कर्मचारी अधिकारियों को रिजर्व में रखा जाएगा. सभी को चुनाव शुरू कराने से लेकर मतगणना तक की ट्रेनिंग दी जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज