कमलेश तिवारी हत्याकांड: यूपी के इस शहर से आरोपियों ने खरीदा था सिम कार्ड
Kanpur News in Hindi

कमलेश तिवारी हत्याकांड: यूपी के इस शहर से आरोपियों ने खरीदा था सिम कार्ड
कान्हा टेलीकॉम कानपुर

एसटीएफ के मुताबिक 17 अक्तूबर को उद्योग कर्मी एक्सप्रेस से उतरकर हत्यारे रेलबाजार की तरफ गए थे. रात करीब आठ बजे पुष्कल पांडे के कान्हा टेलीकॉम पर पहुंचे. वहां आधार कार्ड की कॉपी और फोटो देकर सिम लिया था.

  • Share this:
कानपुर. हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) में सोमवार को सनसनीखेज खुलासा पुलिस ने किया है. लखनऊ में दिनदहाड़े  कमलेश तिवारी की गोली मारकर हत्या करने वाले फरार शूटर ने गुजरात के पते का आधार कार्ड की कॉपी देकर कानपुर के रेलबाजार से सिम खरीदा था. एसटीएफ ने सिम देने वाली कान्हा टेलीकॉम की महिला संचालिका से लंबी पूछताछ की. इसमें 17 अक्तूबर को रात आठ बजे सिम लेने के बाद एक घंटे में चालू होने की पुष्टि हुई है.

एसटीएफ के मुताबिक 17 अक्तूबर को उद्योग कर्मी एक्सप्रेस से उतरकर हत्यारे रेलबाजार की तरफ गए थे. रात करीब आठ बजे पुष्कल पांडे के कान्हा टेलीकॉम पर पहुंचे. वहां आधार कार्ड की कॉपी और फोटो देकर सिम लिया था. इस पर एसटीएफ ने पांडे से सिम लेने वाले की आईडी और फोटो मांगी तो दोनों चीजें अशफाक की निकलीं. इस दौरान आरोपियों ने कान्हा टेलीकॉम की संचालिका से लखनऊ का रास्ता भी पूछा था.

बता दें कि बीते 18 अक्टूबर को ही हिंदू समाज पार्टी (Hindu Samaj Party) के अध्यक्ष कमलेश तिवारी (Kamlesh Tiwari) की हत्या (Murder) कर दी गई थी. इस हत्याकांड में गुजरात से तीन और यूपी से दो लोगों को गिरफ्तार किया गया है. यूपी के बिजनौर के दो मौलानाओं की भी भूमिका की जांच की जा रही है. वर्ष 2015 में इन दोनों मौलानाओं ने कमलेश तिवारी का सिर कलम करने वालों को डेढ़ करोड़ रुपये इनाम देने की घोषणा की थी.



इनपुट- श्याम तिवारी
यह भी पढ़ें-

यूपी उपचुनाव: 11 सीटों पर वोटिंग शुरू, कई जगह EVM में खराबी की सूचना
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज