कानपुर: 8 महीने से बच रहे गैंगस्टर विकास दुबे के 10 मददगारों पर गिरी गाज

कानपुर एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के सहयोगियों पर कार्रवाई जारी है. (फाइल फोटो)

कानपुर एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के सहयोगियों पर कार्रवाई जारी है. (फाइल फोटो)

Kanpur News: यूपी एसटीएफ की ओर से हथियारों के तस्कर मनीष यादव को छोड़कर सभी 10 आरोपितों के खिलाफ गैंगस्टर विकास दुबे को संरक्षण देने के आरोप में आईपीसी की धारा 216 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया. कुछ अज्ञात आरोपी भी बनाए गए हैं.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर (Kanpur) में पिछले साल 2020 में 2 जुलाई की रात को बिकरु (Bikru Case) में खूनी खेल खेला गया. जिसमें कई पुलिस के जवान शहीद हुए थे. हालांकि पुलिस ने कांड के कुख्यात अपराधी विकास दुबे (Ganhster Vikas Dubey) को एनकाउंटर मार गिराया था. मगर पुलिस की जांच पड़ताल अभी भी जारी है. रोज नए खुलासे हो रहे हैं. एसटीएफ की जांच का दायरा जैसे-जैसे बढ़ा, वैसे-वैसे विकास दुबे की मदद करने वालों के नाम भी सामने आए. पुलिस ने विकास दुबे के संरक्षण देने वाले 10 लोगों के खिलाफ पनकी थाने में मुकदमा दर्ज कर दिया है.

मुकदमा एसटीएफ के प्रभारी शैलेंद्र कुमार सिंह ने दर्ज कराया है. 1 मार्च 2021 को एसटीएफ की कानपुर टीम ने गैंगस्टर विकास दुबे को आश्रय देने वाले और उसके हथियार खरीदने वाले 7 लोगों को गिरफ्तार कर उनके पास से बिकरु कांड में 2 जुलाई की रात कहर बरपाने वाले असलहे बरामद किए गए. एसटीएफ ने शिवली निवासी विष्णु कश्यप, अमन शुक्ला, अभिनव तिवारी, रसूलाबाद तुलसी नगर निवासी संजय परिहार, शुभम पाल के साथ हत्यारों के तस्कर भिंड के निवासी मनीष यादव को गिरफ्तार किया था.

ये हथियार हुए बरामद

इनके पास से एसटीएफ ने शिव तिवारी की सेमिऑटोमेटिक राइफल, एक फैक्ट्री मेड सिंगल बैरल बंदूक, कार्बाइन, एक रिवाल्वर और दो तमंचे और भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए थे. इस प्रकरण में सभी सातों आरोपियों के खिलाफ आर्म्स एक्ट के तहत थाना पनकी में मुकदमा दर्ज हुआ था. गिरफ्तार आरोपितों से पूछताछ में अर्पित मिश्रा, विक्की यादव, अभिषेक मोहन अवस्थी नाम भी प्रकाश में आया था. इस मामले में बुधवार को एसटीएफ की ओर से हत्यारों के तस्कर मनीष यादव को छोड़कर सभी आरोपितों के खिलाफ विकास दुबे को संरक्षक देने के आरोप में आईपीसी की धारा 216 के तहत मुकदमा दर्ज कराया गया. कुछ अज्ञात आरोपी भी बनाए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज