होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /दलित छात्र की पिटाई से मौत: आक्रोशित ग्रामीणों ने जमकर की आजगनी, पुलिस ने भागकर बचाई जान

दलित छात्र की पिटाई से मौत: आक्रोशित ग्रामीणों ने जमकर की आजगनी, पुलिस ने भागकर बचाई जान

Auraiya News: छात्र की पिटाई से मौत के बाद जमकर हंगामा और आगजनी

Auraiya News: छात्र की पिटाई से मौत के बाद जमकर हंगामा और आगजनी

Auraiya Student Death Case: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में अछल्दा थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक दलित छात्र की पिटाई से हुई ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

छात्र का शव जैसे ही गांव पहुंचा आक्रोशित ग्रामीणों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया
भीम आर्मी और समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया
भीड़ ने पुलिस की कई गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया

औरैया. उत्तर प्रदेश के औरैया जिले में अछल्दा थाना क्षेत्र के अंतर्गत एक दलित छात्र की पिटाई से हुई मौत के बाद आक्रोशित परिजनों और ग्रामीणों ने शव को रख कर जोरदार हंगामा किया. कई जगह आगजनी और पत्थरबाजी भी की गई .बवाल के दौरान डीएम औरैया की सरकारी कार बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई. इसके अलावा पुलिस की कई गाड़ियों को भी नुकसान पहुंचा. आलम यह रहा कि पुलिस वालों ने भागकर अपनी जान बचाई.

छात्र की मौत के बाद भीम आर्मी और समाजवादी पार्टी के समर्थकों की ओर से किए गए प्रदर्शन में पुलिस की कई गाड़ियों को नुकसान पहुंचा. आधा दर्जन के आसपास वाहन पथराव में क्षतिग्रस्त हुए. भीम आर्मी के साथ-साथ समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ता भी हंगामे में शामिल हो गए, जिसकी वजह से स्थिति बेकाबू हो गई.

एक प्रश्न का गलत उत्तर देने पर छात्र की हुई थी पिटाई
दरअसल,अछल्दा थाना क्षेत्र अंतर्गत आदर्श इंटर कॉलेज के शिक्षक अश्वनी सिंह ने सामाजिक विज्ञान के टेस्ट में एक गलत उत्तर देने पर कक्षा 10 के छात्र निखित को बुरी तरह से पीटा था. जिसके बाद सोमवार को छात्र की सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में उपचार के दौरान मौत हो गई. इटावा मुख्यालय पर पोस्टमार्टम के बाद जैसे ही शव गांव पहुंचा, वैसे ही हंगामा होना शुरू हो गया. रात सवा नौ बजे के करीब प्रदर्शन कर रहे भीड़ के बीच कुछ शरारती तत्वों ने पुलिस पर पत्थर फेकने शुरू कर दिए. इस पर पुलिस की ओर से सख्ती दिखाते हुए लाठी चार्ज करने की चेतावनी दी गई. जिसके बाद एकाएक माहौल बिगड़ गया. इसी बीच ऐरवाकटरा थाना की खड़ी पुलिस जीप में आग लगा दी गई.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

दो दर्जन से ज्यादा हिरासत में
इस बीच माहौल बिगड़ता देख मौके पर तैनात पुलिस अधीक्षक चारू निगम ने मोर्चा संभाला. भीड़ को खदेड़ते हुए पीड़ित स्वजन को घर पहुंचाया. वहीं दो दर्जन से ज्यादा लोगों को हिरासत में लिया गया, जिन्हें थाना ले जाया गया. पूरे बवाल में साजिश की संभावना को देखते हुए कुछ लोगों के मोबाइल की कॉल  डिटेल खंगाले जा रहे हैं. लॉ एंड आर्डर को मेनटेन रखने के लिए वैशौली गांव से लेकर अछल्दा कस्बे तक भारी संख्या में पुलिस फोर्स की तैनाती बढ़ा दी गई है.

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें