• Home
  • »
  • News
  • »
  • uttar-pradesh
  • »
  • होर्डिंग को लेकर भाजपा के नेता आमने-सामने, ऑडियो वायरल 

होर्डिंग को लेकर भाजपा के नेता आमने-सामने, ऑडियो वायरल 

प्रबुद्ध

प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के लिए लगाए होर्डिंग को लेकर भाजपा नेताओं में हुई खींचतान

इस के कार्यकर्ताओं के बारे में भी यह कहा जाता है कि इनका चाल चरित्र और चेहरा दूसरे दलों से अलग होता है, लेकिन यूपी विधानसभा चुनाव के आने से पहले भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश स्तर के नेताओं की जुबान अपशब्दों में तब्दील हो रही है. कानपुर की एक विधानसभा में टिकट पाने के दावेदारों के बीच जमकर अपशब्द कहे जा रहे हैं.

  • Share this:

    भारतीय जनता पार्टी सभी दलों में सबसे ज्यादा अनुशासित मानी जाती है. इस के कार्यकर्ताओं के बारे में भी यह कहा जाता है कि इनका चाल चरित्र और चेहरा दूसरे दलों से अलग होता है, लेकिन यूपी विधानसभा चुनाव के आने से पहले भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश स्तर के नेताओं की जुबान अपशब्दों में तब्दील हो रही है. कानपुर की एक विधानसभा में टिकट पाने के दावेदारों के बीच जमकर अपशब्द कहे जा रहे हैं.

    टिकट के दावेदार अतिउत्साह में आज़मा रहा दांवपेंच
    उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव करीब आ रहे हैं. ऐसे में टिकट के दावेदारों में होड़ मची हुई है. सबसे ज्यादा भारतीय जनता पार्टी के टिकट पाने के दावेदार उत्साहित हैं. इस अति उत्साह में हर सियासी दांवपेंच चला जा रहा है और कोशिश एक दूसरे को नीचा दिखाने की भी है. मामला कानपुर के सीसामऊ विधानसभा क्षेत्र का है जहां भारतीय जनता पार्टी के पूर्व प्रत्याशी और पूर्व प्रदेश मंत्री बीजेपी सुरेश अवस्थी और भारतीय जनता युवा मोर्चा के पूर्व प्रदेश मंत्री प्रमोद विश्वकर्मा का एक ऑडियो वायरल हुआ है. ऑडियो में सुरेश अवस्थी प्रमोद विश्वकर्मा को अपशब्द कहते और धनबल और बाहुबल के जरिए देख लेने की बात कह रहे हैं. लेकिन प्रमोद विश्वकर्मा भी सुरेश अवस्थी पर प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन के जरिए खुद की अनदेखी किए जाने का आरोप लगा रहे हैं. ऑडियो वायरल होने के बाद भारतीय जनता पार्टी के सभी बड़े नेताओं ने इस पर चुप्पी साध ली है लेकिन सुरेश अवस्थी का कहना है कि वायरल ऑडियो में सुनाई दे रही आवाज उनकी नहीं है.

    विरोधियों की साज़िश बताया
    सुरेश अवस्थी की माने तो प्रमोद विश्वकर्मा उनके छोटे भाई जैसे हैं और ये ऑडियो वायरल विपक्षी दलों ने किया है. ये विपक्षियों की साजिश है और वह साजिश कर भारतीय जनता पार्टी को बदनाम करना चाहते हैं. हालांकि इस मामले में प्रमोद विश्वकर्मा कुछ भी बोलने से बच रहे हैं. लेकिन, सवाल प्रमोद विश्वकर्मा पर भी उठ रहे हैं कि सियासी फायदे के लिए प्रमोद विश्वकर्मा ने इस ऑडियो को वायरल कराया है.
    प्रबुद्ध वर्ग सम्मेलन से पहले का है आडियो
    दरअसल, बुधवार को सीसामऊ विधानसभा में प्रबुद्ध वर्ग समेलन कराया गया. जिसमें कानून मंत्री बृजेश पाठक ने शिरकत की और इस कार्यक्रम से प्रमोद विश्वकर्मा का गुट किनारे दिखा. अंदर की बात ये है कि जब सुरेश अवस्थी को प्रमोद विश्वकर्मा द्वारा उनकी होर्डिंग साज़िश के तहत हटाये जाने की बात पता चली तो आवेश में आकर सुरेश ने प्रमोद को कॉल कर दिया उसी वक्त का यह ऑडियो बताया जा रहा है.
    आलाकमना के लिए बन सकता है चिंता का सबब
    साल 2017 में सुरेश अवस्थी सीसामऊ विधानसभा में भारतीय जनता पार्टी की तरफ से चुनाव लड़े थे और 5000 से कुछ ज्यादा वोटों से हार का सामना करना पड़ा था, लेकिन इस बार प्रमोद विश्वकर्मा भी सीसामऊ विधानसभा से चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे हैं और वायरल ऑडियो को इन दोनों के बीच टिकट की खींचतान का नतीजा बताया जा रहा है. ऐसे में भारतीय जनता पार्टी में टिकटों की मारामारी की शुरुआत अभी से हो चुकी है. जो समय बीतते बीतते और ज्यादा परेशानी का सबब पार्टी आलाकमान के लिए बनेगा.
    न्यूज 18 लोकल के लिए आलोक तिवारी की रिपोर्ट

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज