होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

कानपुर में सांप काटने के मामलों में बढ़ोतरी, यहां उपलब्ध है एंटी स्नेक वेनम, पढ़ें डिटेल खबर

कानपुर में सांप काटने के मामलों में बढ़ोतरी, यहां उपलब्ध है एंटी स्नेक वेनम, पढ़ें डिटेल खबर

Kanpur News: जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ संजय काला ने बताया कि पिछले एक हफ्ते में सर्पदंश के 50 से अधिक मामले सामने आए हैं. अच्छी बात यह रही कि सर्पदंश के शिकार एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. सभी को सकुशल बचा लिया गया. उन्होंने बताया कि 2 मरीजों की हालत गंभीर थी. जिनको वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी, लेकिन अब उनकी भी हालत में सुधार हो गया है.

अधिक पढ़ें ...

हाइलाइट्स

बारिश में तेजी बढ़े सर्पदंश के मामले
पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है एंटी स्नेक वेनम

रिपोर्ट: अखंड प्रताप सिंह

कानपुर: बारिश का मौसम शुरू हो चुका है. बारिश का मौसम शुरू होते ही सांप- बिच्छू भी बाहर निकलने लगते हैं. जिसके कारण इस महीने में सांपों का खतरा बढ़ जाता है. उत्तर प्रदेश के कानपुर में भी सांपों का आतंक बढ़ गया है. सर्पदंश के कई मामले सामने आ रहे हैं. रोजाना लगभग 6 सर्पदंश के मरीज हैलट अस्पताल में आ रहे हैं. जिसको देखते हुए मेडिकल कॉलेज ने अपनी तैयारियां बढ़ा ली हैं. मेडिकल कॉलेज में एंटी स्नेक वेनम पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध हैं, जिससे लोगों की जान बचाई जा रही है. मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल का कहना है कि लोग सर्प दंश का शिकार होते ही अस्पताल पहुंचे, जिससे उनकी जान बचाई जा सके. उन्होंने कहा कि लोग किसी भी झाड़-फूंक या झोलाछाप डॉक्टरों के चक्कर में न पड़ें नहीं तो जान आफत में पड़ सकती है.

हफ्तेभर में 50 से अधिक मामले आए
जीएसवीएम मेडिकल कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ संजय काला ने बताया कि पिछले एक हफ्ते में सर्पदंश के 50 से अधिक मामले सामने आए हैं. अच्छी बात यह रही कि सर्पदंश के शिकार एक भी मरीज की मौत नहीं हुई है. सभी को सकुशल बचा लिया गया. उन्होंने बताया कि 2 मरीजों की हालत गंभीर थी. जिनको वेंटिलेटर की जरूरत पड़ी, लेकिन अब उनकी भी हालत में सुधार हो गया है.

प्रोफेसर डॉक्टर संजय काला ने बताया कि पिछले साल बारिश में सर्प दंश के कई मामले सामने आए थे. जिसको देखते हुए इस साल पहले से ही तैयारी कर ली गई थी. बरसात के पहले ही 400 एंटी स्नेक वेनम मंगा लिए गए थे. उन्होंने कहा कि सांप के काटने पर बिल्कुल न घबराएं. जिसको सांप काटे वो सबसे पहले पास के अस्पताल में पहुंचे और अपना इलाज कराएं. उन्होंने कहा कि हैलट अस्पताल में भी आप मरीज को लेकर आ सकते हैं. यहां सर्प दंश को लेकर पूरी व्यवस्था है.

झोला छाप डॉक्टरों से रहें सावधान
प्रोफेसर संजय काला ने बताया कि कुछ लोग सांप काटने पर झाड़-फूंक और झोलाछाप डॉक्टरों के चक्कर में पड़ जाते हैं. जिसके कारण इलाज में काफी देर हो जाती है. इससे कई लोग अपनी जान भी गंवा देते हैं. लोगों को झाड़-फूंक से सचेत रहना चाहिए. सांप के काटने पर झाड़-फूंक के चक्कर में न पड़कर तुरंत मेडिकल ट्रीटमेंट लेना चाहिए.

कानपुर में कहां कहां हैं एंटी वेनम सेंटर?
प्रोफेसर संजय काला ने बताया कि कानपुर में एंटी वेनम पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है. कानपुर के हैलट अस्पताल के साथ उर्सला अस्पताल, घाटमपुर सीएचसी, बिल्हौर सीएचसी समेत काशीराम अस्पताल में एंटी वेनम सेंटर बनाए गए हैं. जहां सर्पदंश से पीड़ित मरीज पहुंचकर अपना इलाज करा सकते हैं.

Tags: Chief Minister Yogi Adityanath, CM Yogi Aditya Nath, Kanpur news, Uttarpradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर