कानपुर में इन 19 बंगलों के रिकार्ड तलाश रही है CBI, निशाने पर कई पूर्व अफसर

ये मामला बीआईसी की अरबों की जमीनों को कौड़ियों के भाव बेचने का है. बीआईसी के 19 बंगलों के रिकार्ड गायब हो चुके हैं, जिन्हें सीबीआई तलाश कर रही है. सीबीआई ने अपनी रिपोर्ट में साफ किया है कि सम्पत्तियों को बेचने में कुछ खास लोगों ने षड्यंत्र किया है.

Amit Ganju
Updated: July 10, 2019, 6:35 PM IST
कानपुर में इन 19 बंगलों के रिकार्ड तलाश रही है CBI, निशाने पर कई पूर्व अफसर
कानपुर में लगातार रेड कर रही है सीबीआई
Amit Ganju
Updated: July 10, 2019, 6:35 PM IST
भारत के नियन्त्रक एवं महालेखापरीक्षक (सीएजी) ने 2011 में पेश अपनी रिपोर्ट में ब्रिटिश इंडिया कार्पोरेशन (बीआईसी) की अरबों की संपत्ति को औने-पौने में बेचने का खुलासा किया था. इस मामले की जांच कर रही सीबीआई ने मंगलवार (10 जुलाई) कानपुर के वीआईपी रोड स्थित मुख्यालय पर छापेमारी की. यहां कंपनी के 5 अफसरों से पूछताछ की जा रही है. भारी मात्रा में दस्तावेज भी जब्त किए गए हैं. सीबीआई ने FIR के साथ दाखिल अपनी जांच रिपोर्ट में बताया है कि बीआईसी के 19 बंगलों के रिकार्ड गायब हो चुके हैं, जिन्हें सीबीआई तलाश कर रही है.

क्या है मामला
दरअसल पूरा मामला बीआईसी की जमीनों को एग्रीमेंट टू सेल के माध्यम से बेचने का है. जिसमें बीआईसी की जमीनों को कौड़ियों के भाव बेच दिया गया था, इसी की जांच सीबीआई कर रही है. सीबीआई ने एफआईआर के साथ 18 बिंदुओं पर अपनी जांच रिपोर्ट दाखिल करते हुए साफ किया है कि सम्पत्तियों को बेचने मे कुछ खास लोगों ने षड्यंत्र किया है. जांच रिपोर्ट में ये भी बताया गया कि बीआईसी के 19 बंगलों के रिकार्ड गायब हो चुके हैं, जिन्हें सीबीआई तलाश कर रही है. कम्पनी के पूर्व सचिव केसी बाजपेयी पर सीबीआई की छापेमारी ने साफ संकेत दे दिये हैं कि इस मामले में बीआईसी के कुछ पूर्व अफसर उसके निशाने पर हैं. सीबीआई इससे पहले भी दो बार यहां छापेमारी कर चुकी है.

BIC
कानपुर में बीआईसी की संपत्ति


कैग की रिपोर्ट में हुआ था खुलासा
यह सारी जांच 2011 में कैग की रिपोर्ट के बाद शुरू की गई थी. जिसमें बीआईसी के बंगलों की बिक्री में 109 करोड़ रुपयों की हेराफेरी की रिपोर्ट केंद्र को भेजी गयी थी. अगर मुख्य सम्पत्तियों की बात करें तो क्लाॅक टावर 4 हजार 46 वर्ग मीटर की जमीन के लिये 3.71 करोड़ रुपये मे सौदा हुआ. मगर उसमें सिर्फ 25 फीसदी के हिसाब से 92.75 लाख रुपये अग्रिम भुगतान लिया गया. इसी तरह मकरावटगंज में मौजूद कई जमीनों को 25 फीसदी रकम लेकर एग्रीमेंट टू सेल कर दिया गया.

ये भी पढ़ें -
Loading...

कैबिनेट मीटिंग में लिए गए बड़े फैसले, बच्चों से रेप के अपराध में होगी मौत की सजा
अब कोई नहीं लूट पाएगा आपकी गाढ़ी कमाई, मोदी सरकार लाई नया कानून

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 10, 2019, 6:35 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...