आगामी 15 दिनों में भारत में तेजी से फैलेगा कोरोना, IIT कानपुर के विशेषज्ञों ने दी चेतावनी

सांकेतिक फोटो.

सांकेतिक फोटो.

कोरोना (Corona) की दूसरी लहर को लेकर पूरे देश में हालात बिगड़ रहे हैं. कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. इस बीच आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के विशेषज्ञों की चेतावनी चिंता को बढ़ाने वाली है.

  • Share this:
कानपुर. कोरोना (Corona) की दूसरी लहर को लेकर पूरे देश में हालात बिगड़ रहे हैं. कोरोना के मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है. इस बीच आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) के विशेषज्ञों की चेतावनी चिंता को बढ़ाने वाली है. विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले साल की तुलना में इस बार कोरोना वायरस का संक्रमण कहीं ज्यादा तेज होगा. आईआईटी कानपुर के डिप्टी डायरेक्टर मणीन्द्र अग्रवाल ने गणितीय मॉडल के आधार पर चेतावनी जारी की है. उन्होंने बताया कि मॉडल के आधार पर महाराष्ट्र में अगले 2 हफ्ते में कोरोना के मामले तेजी से बढ़ सकते हैं.

महाराष्ट्र में रोजाना 40 से 45 हजार कोरोना के मामले सामने आ सकते हैं. उन्होंने कहा कि अप्रैल के अंतिम हफ्ते में उत्तर प्रदेश में कोरोना का प्रतिदिन का आंकड़ा 6000 हो सकता है. IIT के प्रोफ़ेसर महेंद्र वर्मा ने बताया कि फरवरी में कोरोना वायरस की रिप्रोडक्शन वैल्यू शून्य से नीचे थी. अब यह है 1.25 से 1.30 के खतरनाक स्तर पर पहुंच गई है. उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर इसी तरीके से लापरवाही जारी रही तो रोजाना एक लाख के सामने आ सकते हैं. जबकि पहली लहर में 1 दिन में अधिकतम 97 हजार 500 रिकॉर्ड किए गए थे.

Youtube Video


आने वाले दिनों बढ़ेगी मुश्किल
आईआईटी कानपुर के साइबर सिक्यॉरिटी हब के प्रोग्राम डायरेक्टर मणींद्र अग्रवाल के अनुसार, महाराष्ट्र अगले दो हफ्ते में पीक पर होगा. मॉडल के आधार पर महाराष्ट्र में रोजाना 45-50 हजार केस आ सकते हैं. इसी तरह पंजाब रोजाना 3500 केसों के साथ पीक पर होगा. केरल में अप्रैल मध्य में केस न्यूनतम स्तर पर होंगे. दिल्ली में भी अप्रैल-मई में संक्रमण के 5-6 हजार नए केस रिपोर्ट हो सकते हैं. इसी तरह उत्तर प्रदेश अप्रैल के अंतिम हफ्ते में रोज 6 हजार केस का आंकड़ा छू सकता है. पहली लहर के चरम में यूपी में रोज करीब 7 हजार केस रेकॉर्ड किए गए थे. गोवा 300 केसों के साथ मई के पहले हफ्ते में चरम पर होगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज