लाइव टीवी

Covid-19: कमी ना आए इसलिए जेल में मास्क बना रहे कैदी, एक की लागत 10 रुपए
Kanpur News in Hindi

SAURABH MISHRA | News18 Uttar Pradesh
Updated: March 21, 2020, 10:01 AM IST
Covid-19: कमी ना आए इसलिए जेल में मास्क बना रहे कैदी, एक की लागत 10 रुपए
कानपुर जेल में कैदी मास्क बना रहे हैं

मास्क की कमी ना हो इसलिए कानपुर जेल के तीन कैदियों का हुनर काम में लाया जा रहा है. ये तीनों कैदी सिलाई के काम में कुशल हैं. ये तीनों कैदी जेल में ही सूती कपड़े और टिश्यू पेपर की मदद से रोजाना करीब 200 मास्क तैयार कर रहे हैं.

  • Share this:
कानपुर. कोरोना वायरस (Coronavirus) के कहर बरपाने के बाद बाजार में मास्क (Mask) नदारद हो गए. मास्क की कमी ना हो इसलिए कानपुर जेल (Kanpur Jail)के तीन कैदियों (Prisoner) का हुनर काम में लाया जा रहा है. ये तीनों कैदी सिलाई के काम में कुशल हैं. ये तीनों कैदी जेल में ही सूती कपड़े और टिश्यू पेपर की मदद से रोजाना करीब 200 मास्क तैयार कर रहे हैं. इन मास्क का प्रयोग कैदी-बंदी कर रहे हैं.

जेल अधीक्षक की इस अनूठी पहल के चलते कैदियों और बंदियों के स्वास्थ्य की देखभाल ढंग से हो पा रही है. कोरोना का डर जेल की दीवारों तक भी पहुंच गया है. यहां मुलाकात करने आने वाले कैदियों-बंदियों के स्वजनों को भी मास्क पहनकर आने के निर्देश दिए गए हैं.

कानपुर जेल में बंद हैं 1600 कैदी और बंदी

इस समय कानपुर जेल में करीब 1600 कैदी-बंदी है. इनके लिए बाजार से मास्क खरीदने की कोशिश की गई तो पता चला कि मास्क की शॉर्टेज चल रही है और कीमत ज्यादा होने की जानकारी मिली. इसके बाद जेल प्रशासन चिंता में पड़ गया कि आखिर कैसे कैदियों को मास्क दिए जाए.



दो पुरूष और एक महिला कैदी बना रहे हैं मास्क

जेल अधीक्षक अरुण प्रताप सिंह ने जेल में ही बंद सिलाई कारीगर निजाम, अब्दुल वाहिद व एक महिला कैदी को उन्होंने बुलाया. तीनों से मास्क बनाने के बाबत पूछा तो उन्होंने हामी भर कर कहा कि बस एक बार मास्क बनाने का तरीका बता दिया जाए. इसके बाद जेलर कुश कुमार, डिप्टी जेलर राजेश राय ने बाजार से सूती कपड़ा, टिश्यू पेपर व सिलाई मशीन का इंतजाम किया गया. इन लोगों की पहल के बाद जेल में मास्क बनाने का काम शुरू हो गया.

kanpur jail
अभी तक करीब 500 कैदियों-बंदियों को मास्क दिया जा चुका है


एक मास्क बनाने पर 10-15 रुपये का आता है खर्च

एक मास्क में तीन टिश्यू पेपर की परत लगाई जाती है, इसके बाद इसे सिलकर बांधने के लिए डोरी लगाई जाती है. एक मास्क पर करीब 10 से 15 रुपये का खर्च आता है, अभी तक करीब 500 कैदियों-बंदियों को मास्क दिया जा चुका है और लगातार मास्क बनाने का काम जारी है.

ये भी पढ़ें: कनिका कपूर पर एक और FIR दर्ज, होम क्वॉरेंटाइन के निर्देश का उल्लंघन

COVID-19: पहली बार गोरखनाथ मंदिर और देवीपाटन शक्तिपीठ 31 मार्च तक बंद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए कानपुर से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 21, 2020, 9:42 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर