Home /News /uttar-pradesh /

crowd funding accused hazi wasi reveals kanpur violence conspiracy upat

चंद्रेश्वर हाता खाली कराने के लिए रची गई थी कानपुर हिंसा की साजिश, बिल्डर वसी ने दी थी 1 करोड़ की सुपारी!

Kanpur Violence: नई सड़क पर जहां हिंसा भड़की थी, वहीं पर चंद्रेश्वर हाता है, जहां हिंदू परिवार रहते हैं. साजिश यह थी कि हिंसा के बहाने चद्रेश्वर हाता को खाली करवा लिया जाए, लेकिन पुलिस की सतर्कता से हिंसा फ़ैल नहीं सकीय और आरोपियों के मंसूबे पूरे नहीं हो पाए. गौरतलब है कि बिल्डर वसी ने इसी तरह कई जमीनों पर कब्जे किए और वहां अवैध निर्माण कर मोटी कमाई भी की.

अधिक पढ़ें ...

कानपुर. 3 जून को जुमे की नमाज के बाद कानपुर शहर के बेकनगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क हिलके में हुई हिंसा में बड़ा खुलासा हुआ है. क्राउड फंडिंग के आरोप में गिरफ्तार बिल्डर हाजी वसी ने पुलिस की पूछताछ में कई चौंकाने वाले खुलासे किए हैं. सूत्रों की मानें तो आरोपी वसी ने स्वीकारा है कि हिंसा की पूरी साजिश चंद्रेश्वर हाता को खाली कराने के लिए ही रची गई थी. इसके लिए उसने हिंसा के मास्टरमाइंड हयात जफर हाशमी को एक करोड़ रुपये की सुपारी दी थी. एडवांस के तौर पर हाशमी को 10 लाख रुपये भी दिए गए थे.

बता दें नई सड़क पर जहां हिंसा भड़की थी, वहीं पर चंद्रेश्वर हाता है, जहां हिंदू परिवार रहते हैं. साजिश यह थी कि हिंसा के बहाने चद्रेश्वर हाता को खाली करवा लिया जाए, लेकिन पुलिस की सतर्कता से हिंसा फ़ैल नहीं सकीय और आरोपियों के मंसूबे पूरे नहीं हो पाए. गौरतलब है कि बिल्डर वसी ने इसी तरह कई जमीनों पर कब्जे किए और वहां अवैध निर्माण कर मोटी कमाई भी की.

14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेजा गया वसी
सूत्रों के अनुसार बिल्डर वसी ने यह भी खुलासे किए हैं कि जमीन कब्जाने के मामले में उसे कई रसूखदारों का भी सहयोग मिला है. अब पुलिस के रडार पर भी सभी आने वाले हैं. गौरतलब है कि मंगलवार को कानपुर पुलिस ने हाजी वसी को लखनऊ से गिरफ्तार किया था. उसके बाद उसे कोर्ट में पेश किया गया जहां से उसे 14 दिन की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया गया. इससे पहले उसके बेटे अब्दुल रहमान को भी पुलिस गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है.

Tags: Kanpur Police, Kanpur violence, UP latest news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर