Home /News /uttar-pradesh /

दिल्ली हिंसा पर कानपुर में एलर्ट के नाम पर खानापूर्ति, पुलिस चौकी पर लगी है कुंडी

दिल्ली हिंसा पर कानपुर में एलर्ट के नाम पर खानापूर्ति, पुलिस चौकी पर लगी है कुंडी

अलर्ट के बावजूद बेकनगंज पुलिस चौकी पर लगी है कुंडी

अलर्ट के बावजूद बेकनगंज पुलिस चौकी पर लगी है कुंडी

कानपुर के के सद्भावना चौराहे पर बनी चौकी में न तो आरएएफ नजर आ रही है और न ही बेकनगंज थाने की पुलिस. संवेदनशील प्वाइंट होने के बाद भी अधिकारियों ने इसको गम्भीरता से नहीं लिया है.

कानपुर. नागरिकता संशोधन कानून (CAA) को लेकर जहां उत्तर-पूर्वी दिल्ली के कुछ इलाकों में लगातार हो रही हिंसा के बीच पूरे उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में हाई एलर्ट (High Alert) घोषित कर दिया गया है. वहीं कानपुर (Kanpur) में पिछली घटनाओं के बाद भी अधिकारी सबक नहीं ले रहे हैं. दिसंबर माह मे पुलिस की लापरवाही से लोग सड़कों पर उतर आए थे औऱ हिंसा भी हुई थी, अब एक बार फिर प्रदेश सरकार ने भले ही अधिकारियों को एलर्ट किया है, लेकिन कानपुर में सिर्फ मीडिया के कैमरों को देख कर एलर्टनेस दिखायी जा रही है.

नदारद दिखी पुलिस

कानपुर के के सद्भावना चौराहे पर बनी चौकी में न तो आरएएफ नजर आ रही है और न ही बेकनगंज थाने की पुलिस. संवेदनशील प्वाइंट होने के बाद भी अधिकारियों ने इसको गम्भीरता से नहीं लिया है. यही वजह है कि यहां पर पुलिस की एलर्टनेस नहीं दिख रही है. चौकी में कुंडी लगी हुई है और पुलिस की कुर्सी खाली पड़ी हुई है. एसे में सवाल उठता है कि अधिकारी किस प्रकार का एलर्टनेस कानपुर में है.

दिसंबर में हुई थी हिंसा

बता दें कि दिसंबर माह मे इसी लापरवाहियों के चलते शहर में हिंसा हुई थी औऱ पुलिस बैकफुट पर आयी थी. यही नहीं शहर के महौल को खराब करने वालोंके पोस्टर जरूर जारी कर दिये गये थे. मगर यतीम खाने मे हुई हिंसा मे जिन उपद्रवियों के पोस्टर जारी किये गये थे उनकी आज तक शिनाख्त हो पायी है और न ही कोई पकड़े गये हैं.

एसएसपी ने कही ये बात

सीसीटीवी फुटेज जारी करके पुलिस ने सिर्फ खानापूर्ति करी और बेकनगंज व चमनगंज थाने मे मुकदमे लिखवा दिये. मगर हकीकत में आरोपियों को अभी तक पकड़ा जा सका है. इस मामले पर एसएसपी आनंतदेव तिवारी का कहना है कि लगातार गश्त के आदेश दिये गये हैं और संवेदनशील स्थान पर पुलिस क्यों नहीं थी. इस मामले को गम्भीरता से देखा जायेगा और मामले की जांच भी करायी जायेगी.

ये भी पढ़ें:पहले गई अब्दुल्ला की विधायकी, अब आजम को जेल, जानिए क्या है पूरा केस

सपा सांसद आजम खान के जेल जाने के पीछे इस बीजेपी नेता का रहा बड़ा हाथ

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

Tags: Kanpur city news, Kanpur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर