कोरोना काल में 'बीमारियां' बांट रहा कानपुर देहात का ये जिला अस्पताल, लापरवाही पर DM भी हैरान
Kanpur News in Hindi

कोरोना काल में 'बीमारियां' बांट रहा कानपुर देहात का ये जिला अस्पताल, लापरवाही पर DM भी हैरान
जिला अस्पताल, कानपुर देहात

डीएम कानपुर देहात (DM Kanpur Dehat) राकेश कुमार सिंह ने कहा कि जिला अस्पताल, अकबरपुर, कानपुर देहात की पानी की टंकियों की सफाई तो कराई जाएगी, साथ ही जिम्मेदार विभाग पर ऐसी कड़ी कार्रवाई की जाएगी कि भविष्य में इस तरह की लापरवाही न हो.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर देहात (Kanpur Dehat) में जिला अस्पताल (District Hospital) की बदहाल स्वास्थ्य व्यवस्था की तस्वीर सामने आई है. यहां गंदी पानी की टंकियों से अस्पताल में पानी सप्लाई की जा रही है. इसी पानी को मरीज के साथ तीमारदार मजबूरी में इस्तेमाल कर रहे हैं. कोरोना काल में इस तरह की लापरवाही पर स्वास्थ्य विभाग पर सवाल खड़े हो रहे हैं. मामले की जानकारी होने पर डीएम ने जांच के आदेश दे दिए हैं. वहीं जिम्मेदार कर्मचारियों पर कार्रवाई की बात कही है.

बता दें कानपुर देहात कोई आम जिला नहीं है, इसी जिले में भारत को राष्ट्रपति दिया है. देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (President Ramnath Kovind) यहीं के रहने वाले हैं. लेकिन यहीं के जिला अस्पताल में खुले आसमान के नीचे पानी की टंकियां रखी हैं. किसी में भी ढक्कन नहीं है. एक दर्जन की संख्या में रखी हुई इन्हीं टंकियों से पूरे जिला अस्पताल में पानी की सप्लाई होती है. यहां तारीख को देखें तो पता चलता है कि 2017 में इस टंकी की सफाई हुई थी. 2018 में अगली होनी थी. जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की यह बड़ी मेहरबानी है कि उन्होंने सालों में एक बार इस टंकी की सफाई करा दी लेकिन इसके बाद आने वाले धन को बंदरबांट करते हुए दोबारा इस टंकी की सफाई तक नहीं हुई.





बोतल बंद पानी खरीद नहीं सकते, मजबूरी है ये पानी पीना: ग्रामीण
एक तरफ कोरोना संकट को लेकर तमाम तरह की साफ-सफाई की बात कही जा रही है, दूसरी तरफ अस्पताल के मरीजों को इन खुली टंकियों से पानी सप्लाई किया जा रहा है. ऐसे में तीमारदार, मरीज बीमार नहीं होंगे तो और क्या होगा? अस्पताल में इन्हीं टंकियों से आने वाले पानी को पीने वाले ग्रामीणों से जब हमने बात की तो उन्होंने कहा कि मजबूरी है. साहब इतना पैसा नहीं है कि बोतल का पानी खरीद के पी सकें. यही का पी रहे हैं. अब चाहे बीमार हों या कुछ भी हो, पानी तो पीना है, प्यास तो पानी से ही बुझेगी.

Kanpur Dehat district hospital1
2017 में हुई थी आखिरी बार सफाई


डीएम ने दिए टंकियों की सफाई के आदेश

वहीं जिला अस्पताल की इस बड़ी लापरवाही की तस्वीर लेकर जब news 18 की टीम डीएम राकेश कुमार सिंह के पास पहुंची तो वह भी हैरान हो गए कि जिला अस्पताल में किस तरह इलाज नहीं बल्कि बीमारियां बांटी जा रही हैं. उन्होंने सख्त अंदाज में कहा कि इस मामले को तत्काल दिखाते हुए टंकियों की सफाई तो कराई जाएगी, साथ ही जिम्मेदार विभाग पर इतनी कड़ी कार्रवाई की जाएगी. ताकि भविष्य में इस तरह की लापरवाही न हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज