होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /Kanpur Ravan Dahan 2022: कानपुर में 105 फीट के रावण का होगा दहन, रिमोट का एक बटन दबाते ही हो जाएगा भस्म

Kanpur Ravan Dahan 2022: कानपुर में 105 फीट के रावण का होगा दहन, रिमोट का एक बटन दबाते ही हो जाएगा भस्म

कानपुर के परेड रामलीला सोसायटी में दहन होगा 105 फीट रावण.

कानपुर के परेड रामलीला सोसायटी में दहन होगा 105 फीट रावण.

2022 Dussehra Ravan Dahan in kanpur Today Latest News Update in Hindi: कानपुर शहर में बड़े-बड़े पुतले दहन किए जाते हैं. ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

कानपुर में 250 स्थानों पर होगा रावण दहन
परेड रामलीला सोसायटी में 105 फीट का रावण तैयार
आस-पास के शहरों से जमा होती है भारी भीड़

कानपुर. दशहरे के मौके पर दशानन रावण के पुतले दहन का कार्यक्रम अलग-अलग शहरों में कई स्थानों पर होता है. कानपुर में भी कई जगह इसके दहन का कार्यक्रम रखा गया है. कानपुर परेड रामलीला सोसाइटी में 145 साल पुरानी रामलीला का मंचन और पुतला दहन का कार्यक्रम होता है. यहां आसपास के जिले का सबसे बड़ा पुतला तैयार किया जाता है. इस बार शहर में ढाई सौ जगह रावण के पुतला दहन का कार्यक्रम होगा. जिसमें परेड रामलीला सोसायटी में 105 फीट का रावण दहन किया जाएगा.

कानपुर शहर में बड़े-बड़े पुतले दहन किए जाते हैं. जहां शहर के छावनी रेल बाजार और गीता पार्क में 80-80 फीट के रावण के पुतले बनाए जाते हैं. इसके अलावा रावतपुर गांव, गोविंद नगर, किदवई नगर, बर्रा इलाकों में भी अलग-अलग जगहों पर रावण के पुतले दहन का कार्यक्रम किया जाता है. कुल मिलाकर शहर भर में प्रशासन की अनुमति के मुताबिक ढाई सौ जगह पर मौजूदा साल रावण पुतला दहन का कार्यक्रम किया जाएगा.

अलग-अलग जिलों से आते हैं लोग
कानपुर की परेड रामलीला सोसाइटी का पुतला दहन सबसे ऊंचे रावण की वजह से मशहूर है. यहां आसपास के जिले से लेकर उत्तर प्रदेश के अलग-अलग शहरों से लोग दशहरे के दिन पहुंचते हैं. इसका एक कारण यह भी है कि यहां पर रावण दहन से पहले आतिशबाजी की जाती है. जिसे देखने के लिए दर्शक पहुंचते हैं. अलग-अलग जिलों से आतिशबाज यहां आते हैं और अपनी प्रदर्शनी करते हैं. जिस पर उन्हें रामलीला सोसाइटी इनाम भी देती है.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

रिमोट तकनीकि से होता है रावण दहन
परेड रामलीला सोसायटी स्थित बनाया जाने वाला रावण हर बार नई-नई तकनीकि से लैस किया जाता है. यहां पर रावण के जो 10 सिर बनाए जाते हैं, हर बार उनमें अलग-अलग प्रयोग होते हैं. कभी रावण के पुतले की आंख चलना, तो कभी मुंह से आग निकलना. कभी ठहाके मारकर हंसने वाला रावण का पुतला बनाया जाता है. यहां रावण दहन का कार्यक्रम रिमोट के द्वारा तकनीकि तौर से किया जाता है.

Tags: Dussehra Festival, Kanpur news, Ravana Dahan, Uttarpradesh news, Vijayadashami

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें