अपना शहर चुनें

States

कोरोना वैक्सीनेशन के नाम पर रजिस्ट्रेशन का फर्जीवाड़ा, पुलिस ने कहा- फ्रॉड है, व्यक्तिगत जानकारी न दें

कानपुर में एसपी वेस्ट डॉ अनिल कुमार का कहना है कि लोग सावधान रहें.
कानपुर में एसपी वेस्ट डॉ अनिल कुमार का कहना है कि लोग सावधान रहें.

कानपुर (Kanpur) में एसपी वेस्ट डॉ अनिल कुमार का कहना है कि स्वास्थ्य विभाग और अन्य सरकारी विभाग के जरिए कोरोना वैक्सीन के लिए कोई भी रजिस्ट्रेशन नहीं किया जा रहा है. पुलिस ने ऐसे मामलों को देखते हुए जिन नंम्बरों से फोन आए हैं, उनकी साइबर और सर्विलांस सेल को जांच के आदेश दिए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 30, 2020, 3:39 PM IST
  • Share this:
कानपुर. कोरोना (COVID-19) की वजह से परेशान लोग अब वैक्सीन (Vaccine) का इंतजार कर रहे हैं. वैक्सीन कब, किसको, किस तरह से लगाई जाएगी? स्थिति साफ नहीं है. इसी बात का फायदा अब साइबर ठगों (Cyber Thugs) ने उठाना शुरू कर दिया है. साइबर ठग लोगों को वैक्सीनेशन के नाम पर रजिस्ट्रेशन कराने का झांसा देकर उनका खाता साफ करने में जुट गए हैं. वैक्सिनेशन के नाम पर ठग लोगों से व्यक्तिगत जानकारियां हासिल कर रहे हैं. साथ ही वन टाइम पासवर्ड यानी ओटीपी (OTP) पूछकर उनके खाते साफ करने का काम कर रहे हैं. कानपुर (Kanpur) में कई मामले सामने आने के बाद पुलिस अधिकारियों ने लोगों से सतर्क रहने को कहा है. मामले में साइबर सेल और सर्विलांस सेल ने जांच शुरू कर दी है.

कई शिकायतें आने के बाद पुलिस हुई सतर्क

कानपुर और आसपास के जिलों में कई ऐसे मामले सामने आए, जिनमें लोगों के पास फोन कॉल के जरिए किसी ने कोरोना वैक्सिनेशन के लिए उनका रजिस्ट्रेशन करने के लिए कहा. शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया है कि पहले वैक्सीन की जानकारी दी गई और खुद को स्वास्थ विभाग से जुड़ा संस्था का रिप्रेजेंटेटिव बताया गया. इसके बाद उनसे आधार कार्ड का नंबर मांगा गया और अन्य जानकारी हासिल करके उनसे कहा गया कि उनके पास एक ओटीपी आएगा जो उन्हें बताना होगा. शक होने पर उन्होंने फोन काट दिया. ऐसे कई मामले सामने आने पर पुलिस विभाग भी सतर्क हो गया है.




किसी से भी व्यक्तिगत जानकारी और ओटीपी साझा ना करें लोग: एसपी वेस्ट

एसपी वेस्ट डॉ अनिल कुमार का कहना है कि स्वास्थ विभाग और अन्य सरकारी विभाग के जरिए कोरोना वैक्सीन के लिए कोई भी रजिस्ट्रेशन नहीं किया जा रहा है. पुलिस ने ऐसे मामलों को देखते हुए जिन नंम्बरों से फोन आए हैं, उनकी साइबर और सर्विलांस सेल को जांच के आदेश दिए हैं. लोगों को जागरूक के लिए भी कहा है. उनका कहना है कि रजिस्ट्रेशन फ्रॉड हैं, लोग ऐसे फोन कॉल से सावधान रहें. कोरोना वैक्सीनेशन के नाम पर किसी से भी व्यक्तिगत जानकारी और ओटीपी साझा ना करें.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज