कानपुर में भीषण सड़क हादसा, IPS के माता-पिता समेत 5 लोगों की मौत
Kanpur News in Hindi

कानपुर में भीषण सड़क हादसा, IPS के माता-पिता समेत 5 लोगों की मौत
demo pic

जानकारी के मुताबिक कानपुर से हमीरपुर की तरफ जा रही एक कार ने वीरपुर गांव के पास पहले से खड़े एक ट्रक के पीछे रुक गई. इस बीच पीछे आए दूसरे ट्रक ने अंधेरे में कार को पीछे से टक्कर मार दिया.

  • Share this:
कानपुर हाइवे पर सोमवार रात तेज रफ्तार ट्रक ने एक कार को टक्कर मार दी. इस सड़क हादसे में पश्चिम बंगाल कैडर के आईपीएस अफसर अरविंद आनंद के पिता, मां, बहन, साले और ड्राइवर की मौत हो गई. हादसे से हाइवे पर जाम लग गया. इस हादसे की सूचना मिलने पर एसपी पश्चिम संजीव सुमन और घाटमपुर थाना प्रभारी फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे. पुलिस ने ग्रामीणों की मदद से कार में फंसे लोगों बाहर निकाला. इस घटना में कार और ट्रक बुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई. पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

प्राप्त जानकारी के मुताबिक कानपुर से हमीरपुर की तरफ जा रही एक कार ने वीरपुर गांव के पास पहले से खड़े एक ट्रक के पीछे रुक गई. इस बीच पीछे आए दूसरे ट्रक ने अंधेरे में कार को पीछे से टक्कर मार दिया. दो ट्रकों के बीच फंसी कार जोरदार टक्कर में पूरी तरह से चकनाचूर हो गई. घटना की सूचना मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने आसपास के लोगों की मदद से राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया, लेकिन तब तक अंदर ड्राइवर समेत मौजूद पांच लोग मौत हो चुकी थी. मृतकों में आईपीएस अरविंद के माता-पिता भी शामिल हैं. पश्चिम बंगाल के हावड़ा में तैनात अरविंद आनंद 2016 बैच के आईपीएस हैं.

पुलिस ने बताया कि आईपीएस अरविंद आनंद का परिवार छतरपुर (मध्य प्रदेश) में रहता है. बताया जा रहा है कि आईपीएस के पिता दिनेश रजक (53), मां रजनी (51), बहन अंकिता (24), साला देवेंद्र (22) और ड्राइवर आई-10 कार से रिश्तेदार के घर रायबरेली गए थे.



एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
ये भी पढ़ें:

सुर्खियां: यूपी विधानसभा में फूट-फूटकर रोए सपा विधायक, काशी के दौरे पर आज PM मोदी

जानिए क्यों यूपी विधानसभा में फूट-फूटकर रो पड़े सपा विधायक और बोले- कर लूंगा आत्महत्या

सिपाही भर्ती परीक्षा का परिणाम जारी, यहां पर क्लिक कर के देखें रिजल्ट

हार्दिक पटेल बोले- पाकिस्तान से बदला लेने का मतलब सिर काटकर लाना नहीं

एएमयू छात्रों का बयान, देशद्रोह के झूठे मुकदमे में फंसाना चाहती है पुलिस
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज