अपना शहर चुनें

States

फर्जी फर्म बनाकर वाणिज्यकर विभाग से करोड़ों की धोखाधड़ी, 2 साल से फरार आरोपी दिल्ली से गिरफ्तार

धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)
धोखाधड़ी करने वाले आरोपी को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया है. (सांकेतिक तस्वीर)

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) के कल्याणपुर के बैरी गांव स्थित मकान में फर्जी फर्म दिखाकर वाणिज्यकर विभाग से करोड़ों रुपयों की धोखाधड़ी (Fraud) व जालसाजी की गई थी.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) के कल्याणपुर के बैरी गांव स्थित मकान में फर्जी फर्म दिखाकर वाणिज्यकर विभाग से करोड़ों रुपयों की धोखाधड़ी (Fraud) व जालसाजी की गई थी. धोखाधड़ी करने वाले आरोपित को पुलिस ने देश की राजधानी दिल्ली (Delhi) से गिरफ्तार (Arrst) कर लिया है. बीते शनिवार को पुलिस ने कोर्ट के आदेश पर दिल्ली में आरोपित को घर कुर्की करने पहुंची थी. इसी दौरान आरोपित की भी लोकेशन पुलिस को मिल गया और पुलिस ने सतर्कता बरतते हुए उसे गिरफ्तार किया.

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक वाणिज्य कर विभाग खंड 17 के डिप्टी कमिश्नर प्रशांत कुमार ङ्क्षसह ने 17 नवंबर 2018 को कल्याणपुर थाने में मुकदमा दर्ज कराया था. शिकायत में बताया गया था कि उत्तर प्रदेश वस्तु एवं सेवा कर अधिनियम 2017 के अंतर्गत बैरी गांव स्थित सर्वश्री विनायक ट्रेडर्स फर्म की ओर से इनपुट टैक्स क्रेडिट का दावा किया गया था, लेकिन इनवर्ड सप्लाई के अनुरूप माल की आउटवर्ड सप्लाई नहीं दिखाई गई थी.

हॉस्टल को बताया फर्म का दफ्तर
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जांच में पता लगा कि जिसे फर्म का दफ्तर बताया गया था वह एक हॉस्टल है. विभागीय डाटाबेस व जीएसटी पोर्टल से पता लगा कि फर्म मालिक हरप्रीत सिंह रैना ने वाणिज्यकर विभाग में पैकिंग केस, बॉक्स, क्राफ्ट का व्यापार दिखाया था. हरप्रीत का स्थाई पता साउथ दिल्ली के कालका जी में नेहरू नगर बैंक साइड लिखा था. यही नहीं, हरप्रीत ने अगस्त व सितंबर 2018 में 32 ई-वे बिल के माध्यम से 3.33 करोड़ रुपये की आउटवर्ड सप्लाई और अगस्त 2018 में 14 ई-वे बिल से 8.69 करोड़ रुपये की इनवर्ड सप्लाई प्रदर्शित की थी. इससे सामने आया कि आरोपित ने जाली प्रपत्रों का इस्तेमाल करके बोगस फर्म बनाकर धोखाधड़ी की है.
लंबे समय से थी तलाश


मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कार्यवाहक थाना प्रभारी सुधाकर सिंह ने बताया कि आरोपित की काफी समय से तलाश की जा रही थी. कोर्ट के आदेश पर उसके खिलाफ कुर्की की कार्रवाई करने के लिए टीम गई थी. इसी बीच मुखबिर की सूचना पर उसे दिल्ली में लाजपतनगर स्थित कॉस्मेटिक की दुकान से गिरफ्तार कर लिया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज