होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /कानपुर के लोगों के लिए अच्छी खबर, निःशुल्क पॉलिक्लिनिक शुरू, विशेषज्ञ डॉक्टर होंगे मौजूद

कानपुर के लोगों के लिए अच्छी खबर, निःशुल्क पॉलिक्लिनिक शुरू, विशेषज्ञ डॉक्टर होंगे मौजूद

Polyclinic Arogyam: कानपुर विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज के एचओडी डॉ. दिग्विजय शर्मा के मुताबिक, 2 अक्टूबर गा ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

इस पॉलिक्लिनिक में पर्चे का भी कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा. दवाएं भी मिलेंगी मुफ्त.
यहां मरीजों का आयुर्वेद, होम्योपैथ और एलोपैथ के विशेषज्ञ करेंगे बिल्कुल मुफ्त इलाज.

रिपोर्ट : अखंड प्रताप सिंह

कानपुर. कानपुर विश्वविद्यालय में गांधी जयंती के अवसर पर पॉलिक्लिनिक शुरू की गई है. इस पॉलिक्लिनिक को आरोग्यम नाम दिया गया है, जिसे कानपुर विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज चलाएगा. इस पॉलिक्लिनिक में शहर के विशेषज्ञ डॉक्टर लोगों को चिकित्सीय सलाह देंगे. खास बात यह है कि यह पॉलिक्लिनिक बिल्कुल निःशुल्क है और कोई भी इसका लाभ उठा सकता है. यहां तक कि पर्चे का भी कोई शुल्क नहीं देना पड़ेगा. अमूमन सरकारी अस्पतालों में पर्चे के लिए एक से लेकर 10 रुपये तक का शुल्क रखा जाता है.

कानपुर विश्वविद्यालय के स्कूल ऑफ हेल्थ साइंसेज के एचओडी डॉ. दिग्विजय शर्मा के मुताबिक, 2 अक्टूबर गांधी जयंती के दिन से आरोग्यम की शुरुआत हुई है. इसमें आधुनिक चिकित्सा पद्धति के साथ-साथ आयुर्वेद, योग और होम्योपैथिक सारी पद्धतियों से इलाज किया जाएगा. देखा जाता है कि कुछ लोग आयुर्वेद और होम्योपैथिक की तरफ ज्यादा रुख करते हैं, तो उनको आयुर्वेदिक और होम्योपैथिक इलाज भी इस क्लीनिक के जरिए मिलेगा. रविवार को इस पॉलिक्लिनिक में 14 डाक्टरों की टीम ने मरीजों को देखा. मरीजों को निःशुल्क दवा भी दी गई.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

ये विशेषज्ञ डॉक्टर रहेंगे मौजूद

इस पॉलिक्लिनिक में हड्डी रोग विशेषज्ञ डॉक्टर एएस प्रसाद, नेत्र रोग विशेषज्ञ वरिष्ठ डॉ अवध दुबे वरिष्ठ, वरिष्ठ आयुर्वेदाचार्य डॉक्टर निरंकार गोयल, वरिष्ठ आयुर्वेदाचार्य डॉ वंदना पाठक, गायनकोलॉजिस्ट डॉक्टर संगीता सरस्वत, शिशु एवं बाल रोग विशेषज्ञ डॉ साहनी शेट्टी, होम्योपैथिक विशेषज्ञ डॉ दिनकर पांडेय, मनोरोग विशेषज्ञ डॉ प्रियंका शुक्ला समेत कई अन्य वरिष्ठ चिकित्सक लोगों को चिकित्सीय सलाह और परामर्श देंगे.

Tags: Health News, Kanpur news, UP news

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें