Assembly Banner 2021

सगी बहनों से किया गैंगरेप, फिर पेशाब पीने को किया मजबूर, जिंदगी-मौत से जूझ रही पीड़िता

सांकेतिक तस्वीर

सांकेतिक तस्वीर

गैंगरेप पीड़ि‍ताओं का कहना है कि शुरुआत में स्‍थानीय पुलिस ने मामला दर्ज करने से इनकार कर दिया था.

  • Share this:
उत्तर प्रदेश के कानपुर में एक दिल दहला देने वाली गैंगरेप की घटना सामने आई है. जहां दबंगों ने कक्षा 7 में पढ़ने वाली नाबालिग छात्रा के साथ गैंगरेप किया. इसके बाद दबंगों ने रेप पीड़िता की बड़ी बहन के साथ भी सामूहिक दुष्‍कर्म किया. फिर उसे जमकर मारा-पीटा. वहशी दबंगों का मन इतने से भी नहीं भरा तो रेप पीड़िता को अपना पेशाब पिलाया और उनके प्राइवेट पार्ट में डंडा डाला दिया. इस खौफनाक घटना के बाद रेप पीड़िता अस्पताल में ज़िन्दगी और मौत के बीच जंग लड़ रही है. वहीं, जब पीड़ित परिवार शिकायत लेकर थाने पहुंचा तो पुलिस ने कथित तौर पर उन्‍हें थाने से बैरंग लौटा दिया. जब मामला मीडिया के संज्ञान में आया तो पुलिस ने घटना के पांच दिन बाद एफआईआर दर्ज की.

जानकारी के मुताबिक, घटना कानपुर देहात के अमरौधा ब्‍लॉक के ट्यूंगा गांव की है. दरअसल, गांव के युवक दीपू ने अपने परिवार के दो सदस्यों के साथ मिलकर गांव की ही कक्षा 7 की नाबालिग छात्रा निशा (काल्पनिक नाम) के साथ दुष्कर्म किया. जिसके बाद पीड़ित परिवार रेप पीड़िता नाबालिग छात्रा निशा (काल्पनिक नाम) को लेकर सट्टी थाने पहुंचा, जहां सट्टी पुलिस ने नाबालिग रेप पीड़िता की फ़रियाद सुनने के बजाए उन्‍हें थाने से बैरंग लौटा दिया.

इंसाफ की आस में निशा (काल्पनिक नाम) अपने परिवार के साथ सट्टी थाने का चक्कर लगाती रही. इस दौरान आरोपी दीपू ने अपने 3 साथियों के साथ रेप पीड़िता निशा (काल्पनिक नाम) की बड़ी बहन सुधा (काल्पनिक नाम) को पकड़ लिया और उसके साथ गैंगरेप किया. जब पीड़िता सुधा (काल्पनिक नाम) ने विरोध किया तो आरोपियों ने उसके साथ जमकर मार-पीट की.



पीड़िता सुधा (काल्पनिक नाम) का आरोप है कि आरोपियों ने उसके प्राइवेट पार्ट में डंडा डाला और उसे पेशाब पिलाया गया. जब वो बदहवास हो गई तो आरोपी उसे छोड़कर भाग गए. इसके बाद पीड़िता सुधा (काल्पनिक नाम) बदहवास हालत में थाने पहुंची और अपने साथ हुई घटना की जानकारी पुलिस को दी. रेप पीड़िता का आरोप है कि इस बार भी सट्टी इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह ने निशा की तरह उसे भी थाने से बैरंग लौटा दिया.
वहीं, पीड़ित सुधा की हालत बिगड़ती देख उसके परिजनों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसकी हालत नाजुक बनी हुई है. जिला अस्पताल की महिला प्रभारी सीएमएस डॉ कुमकुम शर्मा ने सुधा के साथ रेप होने की पुष्टि की है.

मामला जब मीडिया के संज्ञान में आया तो इंस्पेक्टर सट्टी दिग्विजय सिंह सफाई देने में जुट गए और खुद को बेदाग बता डाला. इंस्पेक्टर दिग्विजय सिंह ने कहा कि मामला महज़ मामूली विवाद का था, जिसे लेकर दोनों की एफआईआर दर्ज की थी और पीड़िताओं को मेडिकल के लिए भी भेज दिया.

(रिपोर्ट- सौरभ मिश्रा)

ये भी पढ़ें-

चुनावी रैली में इस BJP नेता ने एक सांस में इतनी बार बोला- 'कमल कमल...', VIDEO वायरल

उमर ने की J&K के लिए अलग PM की मांग, गंभीर ने दे डाली नींद लेने की सलाह

योगी पर सिद्धू का हमला, कहा- पहले CBI को रबड़ का गुड्डा बनाया, अब आर्मी को 'मोदी की सेना'

'मोदी जी की सेना' पर घिरे सीएम योगी, चुनाव आयोग ने तलब की रिपोर्ट

आजम खान पर जया प्रदा का हमला, कहा- 'कैसे भाई हैं, जो मुझे नाचने वाली बुलाते हैं'

JDU में भूमिका को लेकर प्रशांत किशोर को कोई भ्रम है तो यह उनकी दिक्कत: नीतीश कुमार

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज