गैंगस्टर विकास दुबे की भांजी बोली- मेरे मामा को ऐसी मौत मिले जो मिसाल बने!
Kanpur News in Hindi

गैंगस्टर विकास दुबे की भांजी बोली- मेरे मामा को ऐसी मौत मिले जो मिसाल बने!
कानपुर की सीमाओं पर लगे ढाई लाख के इनामी बदमाश विकास दुबे की फोटो

कानपुर देहात (Kanpur Dehat) के शिवली थाना क्षेत्र अंतर्गत बाजार में रहने वाली आकांक्षा त्रिपाठी को इस बात का गम है कि वह कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey) की भांजी क्यों है?

  • Share this:
कानपुर. कहते हैं मामा शब्द में दो मां लगे होते हैं. एक मामा 2 मां के बराबर होता है. लेकिन, एक ऐसी भी लड़की है जो हर पल यह दुआ कर रही है कि उसके मामा को ऐसी मौत मिले जो मिसाल बन जाए, ताकि दोबारा गंदे आचरण वाला कलयुगी  मामा इस धरती पर जन्म भी न ले. कानपुर देहात के शिवली थाना क्षेत्र अंतर्गत बाजार में रहने वाली यह लड़की आकांक्षा त्रिपाठी कुख्यात अपराधी विकास दुबे की भांजी है. भांजी ने बताया कि उसे हर पल इस बात का गम है कि वह विकास की भांजी क्यों है? उसके अनुसार, गांव के लोग पूरे परिवार से नफरत करने के साथ ही इतनी खराब नजर से देखते हैं कि उसका घर से निकलना भी मुश्किल है.

यह हालत तब है जब बीते 5 सालों से कुख्यात अपराधी विकास दुबे का घर में आना-जाना तक नहीं है. भांजी ने बताया कि उसे इस बात का कोई गम नहीं है कि उसे मामा का प्यार नहीं मिला, लेकिन अफसोस इस बात का है कि ऊपर वाले ने उसे ऐसा मामा दिया है, जिसकी वजह से वह और उसका परिवार बहुत बड़ी मुसीबत झेल रहा है. आरोपी विकास दुबे की गिरफ्तारी के प्रयास में लगी पुलिस ने बहनोई को शिवली थाने में ही बैठा रखा है, जिसके चलते पूरा घर समस्याओं के दौर में गुजर रहा है.

ये भी पढ़ें: विकास दुबे के बगीचे में लगती थी अपराध की पाठशाला, युवाओं को देता था जुर्म की ट्रेनिग!



एक्शन में पुलिस
कानपुर एसपी अनुराग वत्स ने बताया की पुलिस को मिली जानकारी के अनुसार गैंगस्टर विकास दुबे के कई करीबी जिले में मौजूद हैं. कानपुर के चौबेपुर थाना क्षेत्र अंतर्गत बिकरू गांव में पुलिस मुठभेड़ में 8 पुलिसकर्मियों के शहीद होने के बाद पुलिस लगातार आरोपियों गिरफ्तारी के लिए टीम बनाकर काम कर रही है. यह पूरा कांड कानपुर देहात जिले के बॉर्डर से महज 500 मीटर दूर हुआ. घटना के बाद से ही विकास दुबे उत्तर प्रदेश पुलिस के लिए बड़ी चुनौती बन चुका है, जिसकी गिरफ्तारी के लिए लगातार प्रयास जारी हैं और कानपुर देहात जिले की सभी सीमाओं पर 24 घंटे पुलिस बल तैनात रहता है. इन सभी पुलिसकर्मियों के मोबाइल व्हाट्सएप पर घटना से जुड़े सभी आरोपियों की फोटो भी मौजूद है. ताकि अगर कोई भी अपराधी जो जिले से बाहर भागने की फिराक में हो उसे जल्द गिरफ्तार कर लिया जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज