विकास दुबे एनकाउंटर पर बोले IAS अशोक खेमका- जो पूरी पुलिस फोर्स नहीं कर पाई उसे एक निहत्थे नागरिक ने कर दिखाया
Ujjain News in Hindi

विकास दुबे एनकाउंटर पर बोले IAS अशोक खेमका- जो पूरी पुलिस फोर्स नहीं कर पाई उसे एक निहत्थे नागरिक ने कर दिखाया
उन्होंने आगे कहा कि जो पूरी पुलिस फोर्स नहीं कर पाई, उसे एक निहत्थे नागरिक ने कर दिखाया. (फाइल फोटो)

आईएएस अधिकारी अशोक खेमका (Ashok Khemka) ने भी गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर सोशल मीडिया पर अपना विचार प्रकट किया है. अशोक खेमका ने ट्वीट करते हुए कहा है कि उज्जैन महाकाल मंदिर के एक निहत्थे निजी सुरक्षाकर्मी ने खूंखार डॉन को पकड़ लिया.

  • Share this:
भोपाल. कुख्यात गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Vikas Dubey) के एनकाउंटर (Encounter) के बाद अब तरह-तरह के सवाल खड़े हो रहे हैं. कांग्रेस के साथ-साथ बीजेपी की नेत्रा उमा भारती ने भी विकास दुबे के एनकाउंटर को लेकर मध्य प्रदेश प्रशासन से कई सवाल पूछे हैं. वहीं, आईएएस अधिकारी अशोक खेमका (Ashok Khemka) ने भी गैंगस्टर विकास दुबे को लेकर सोशल मीडिया पर अपना विचार प्रकट किया है. अशोक खेमका ने ट्वीट करते हुए कहा है कि उज्जैन महाकाल मंदिर के एक निहत्थे निजी सुरक्षाकर्मी ने खूंखार डॉन को पकड़ लिया. इसके बाद मध्य प्रदेश पुलिस को सौंपा था. उन्होंने आगे कहा कि जो पूरी पुलिस फोर्स नहीं कर पाई, उसे एक निहत्थे नागरिक ने कर दिखाया. क्या वह असली नायक नहीं है?

दरअसल, विकास दुबे को गिरफ्तार करने के लिए उत्तर प्रदेश, बिहार, राजस्थान, दिल्ली, हरियाणा और मध्य प्रदेश की पुलिस अलर्ट मोड पर थी. खुद यूपी में उसकी तलाशी करने के लिए 100 से ज्यादा पुलिस की टीमें लगातार छापेमारी कर रही थीं. इसके बावजूद भी वह दिल्ली और फरीदाबाद होते हुए मध्य प्रदेश के उज्जैन में पहुंच गया था. गुरुवार सुबह वह महाकाल के मंदिर में पूजा करने जा रहा था. इसी दौरान उसे एक सुरक्षाकर्मी ने पहचान लिया. फिर पकड़ने के बाद उसे एमपी पुलिस के हवाले कर दिया गया. फिर एमपी पुलिस ने यूपी एसटीएफ के हाथ विकास दुबे को सौंप दिया. शुक्रवार सुबह उज्जैन से कानपुर लाते समय रास्ते में एसटीएफ के एनकाउंटर में वकास दुबे मारा गया.


बता दें कि गैंगस्टर विकास दुबे के एनकाउंटर के मामले में पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती और दिग्विजय सिंह की एक ही भाषा सुनाई दे रही है. विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद उसकी उज्जैन में एंट्री को लेकर उमा भारती ने जो सवाल किए थे उनका दिग्विजय सिंह ने समर्थन किया है. दिग्विजय सिंह ने उमा भारती (Uma Bharti) के सवालों को बिल्कुल सही करार देते हुए कहा है कि उन्हें नहीं लगता बीजेपी में उमा भारती के सवालों का कोई जवाब देगा. दरअसल 10 जुलाई को उज्जैन से विकास दुबे की गिरफ्तारी के बाद कानपुर ले जाते वक्त उसका एनकाउंटर कर दिया गया था. एनकाउंटर पर कांग्रेस के तमाम नेता सवाल खड़े कर रहे थे. इसी बीच उमा भारती ने एक ट्वीट कर उन सवालों का समर्थन किया जो कांग्रेस नेताओं की ओर से भी उठाए जा रहे थे. उमा भारती ने लिखा कि इन सवालों को लेकर वह मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Shivraj Singh Chauhan) और गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा से बातचीत करेंगी.



ये थे उमा के 3 सवाल
उमा भारती ने एनकाउंटर के बाद 3 सवालों को रहस्य बताया और लिखा अभी तीन बातें रहस्य की परत में हैं. उमा भारती का पहला सवाल यह है कि विकास दुबे उज्जैन तक कैसे पहुंचा? उनका दूसरा सवाल है कि वह महाकाल परिसर में कितनी देर रहा? जबकि तीसरे सवाल में उमा भारती ने पूछा है कि उसका चेहरा टीवी पर इतना दिखा कि उसे कोई भी पहचान लेता. फिर भई उसको पहचाने जाने में इतना समय कैसे लगा?
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading