होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /नोएडा की तरह कानपुर में भी हो रहा है अवैध निर्माण, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

नोएडा की तरह कानपुर में भी हो रहा है अवैध निर्माण, कभी भी हो सकता है बड़ा हादसा

दो साल पहले कानपुर के जाजमऊ क्षेत्र में एक निर्माणाधीन बिल्डिंग गिरी थी जिसमे 12 लोगों की मौत हो गई थी.

    ग्रेटर नोएडा में हुई घटना में दो इमारतें ढहने से कई लोग मलबे में दब गये थे और कई लोगों की जान चली गई थी.  इस पूरे घटना क्रम के बाद प्रदेश में अवैध निर्माण को लेकर सवाल खड़े होने लगे हैं. कानपुर में भी नियमों को ताक पर रख कर तंग गलियों में अवैध निर्माण चल रहें हैं.

    शहर के सिविल लाइन जैसे पॉश इलाकें मे डबल बेसमेन्ट खोद कर बिल्डिंग बनाई जा रहीं है. साथ ही नक्शा स्टिल पास है जिसमें ग्राउन्ड तल पर पार्किग और तीन तल तक निर्माण कराया जा सकता है, मगर इन नियमों का पालन कोई नहीं कर रहा है. दो साल पहले कानपुर के जाजमऊ क्षेत्र में एक निर्माणाधीन बिल्डिंग गिरी थी जिसमे 12 लोगों की मौत हो गई थी.

    BJP नेता का विवादित बयान, मौलाना की जुबान काटने वाले को देंगे 5 लाख का इनाम

    मगर उसके बाद भी कुछ दिन तक तो सख्ती दिखाई गई लेकिन अब फिर धड़ल्ले से अवैध निर्माण जारी है और इन पर अंकुश लगाने वाला कोई नहीं है. अब शायद नोएडा कि घटना के बाद के डीए कानपुर के अधिकारी नींद से जागे है और अवैध निर्माण के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की बात कर रहें हैं.

    21 जुलाई को शाहजहांपुर में पीएम नरेंद्र मोदी, 1.25 लाख किसानों को करेंगे संबोधित

    आपके शहर से (कानपुर)

    कानपुर
    कानपुर

    Tags: Kanpur news

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें