Vikas Dubey Encounter: जांच कमेटी ने पुलिस से पूछा, बताओ कहां पलटी थी गाड़ी...
Kanpur News in Hindi

Vikas Dubey Encounter: जांच कमेटी ने पुलिस से पूछा, बताओ कहां पलटी थी गाड़ी...
घटनास्थल पर पहुंचे जांच कमेटी के सदस्य

दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश के बिकरु कांड और विकास दुबे एनकाउंटर (Encounter) की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (SIT) को जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए थोड़ा और समय दे दिया गया है.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर में बिकरु कांड और विकास दुबे एनकाउंटर (Vikas Dubey Encounter) की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट (SC) द्वारा गठित जांच कमेटी ने शुक्रवार को घटनास्थल का दौरा किया. जांच कमेटी के अध्यक्ष रिटार्यड न्यायधीश सुप्रीम कोर्ट डॉक्टर डीएस चौहान की टीम ने सचेंडी थाना क्षेत्र में उसी स्थान पर दी गई जहां विकास दुबे को मुठभेड़ के दौरान पुलिस ने मार गिराया था. जांच टीम के साथ पूरे जिले भर के पुलिस के आला अधिकारी समेत हर वो पुलिसकर्मी मौजूद रहा, जो मुठभेड़ के बाद मौके पर था. न्यायिक आयोग के सदस्यों ने बड़ी बारीकी से सभी पुलिसकर्मियों से बात की जो उस दिन घटनास्थल पर थे. आयोग ने सचेंडी थाना प्रभारी से पूछा कि जरा बताइए कि आखिर गाड़ी कैसे पलटी थी, तो उसने पूरे वाक्य टीम को बताया.

इसके बाद टीम ने यह भी पूछा कि आखिर विकास दुबे को कहां पर गाड़ी में बदला गया था और टोल प्लाजा में उन्होंने विस्तार से जांच की. जांच टीम के पास मौजूद तीन फाइलों में घटना की पल-पल की जानकारी के साथ सभी तस्वीरें भी मौजूद है. कानपुर आईजी रेंज मोहित अग्रवाल से भी काफी देर तक मौके पर पूछताछ की गई. इस दौरान आयोग के सदस्यों का सवाल सुनकर थानेदार भी घबरा रहे थे.

SIT को दिया और समय
दूसरी तरफ, उत्तर प्रदेश के बिकरु कांड और विकास दुबे एनकाउंटर की जांच कर रही स्पेशल इन्वेस्टिगेशन टीम (एसआईटी) को जांच रिपोर्ट सौंपने के लिए थोड़ा और समय दे दिया गया है. दरअसल, एसआईटी को पहले 31 जुलाई को मामले में अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपनी थी. लेकिन, 31 जुलाई की तारीख बीत गई और एसआईटी ने शासन से इसके लिए और समय मांगा था. अब शासन ने एसआईटी की मांग मानते हुए 30 अगस्त तक का समय दिया है. 30 अगस्त तक एसआईटी को पूरे मामले की जांच कर रिपोर्ट देनी होगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज