कानपुर: CO देवेंद्र मिश्रा के परिजनों से मिले AAP सांसद संजय सिंह, शहीद का लेटर किया ट्वीट
Kanpur News in Hindi

कानपुर: CO देवेंद्र मिश्रा के परिजनों से मिले AAP सांसद संजय सिंह, शहीद का लेटर किया ट्वीट
आप सांसद संजय सिंह ने की शहीद देवेंद्र सिंह से मुलाक़ात

Kanpur Shootout को बड़ी साजिश करार देते हुए AAP सांसद संजय सिंह ने दिवंगत सीओ देवेंद्र मिश्रा का पत्र ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने एसओ चौबेपुर विनय तिवारी की विकास दुबे से साठ-गांठ की आशंका जताई थी.

  • Share this:
कानपुर. आम आदमी पार्टी (Aam Aadmi Party) के सांसद संजय सिंह (Sanjay Singh) सोमवार को विकरू गांव में शहीद हुए सीओ विल्हौर देवेंद्र मिश्रा (CO Devendra Mishra) के परिजनों से मिलने पहुंचे. इस दौरान उन्होंने परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना दी और कहा कि मामले की जांच सीबीआई से हो. उन्होंने पूरे घटनाक्रम को बड़ी साजिश करार देते हुए दिवंगत देवेंद्र मिश्रा का एक लेटर भी ट्वीट किया है, जिसमें उन्होंने एसओ चौबेपुर विनय तिवारी की गैंगस्टर विकास दुबे से साठ-गांठ का जिक्र करते हुए बड़ी वारदात की आशंका जताई थी.

सांसद संजय सिंह ने शहीद देवेंद्र सिंह द्वारा उच्च अधिकारियों को लिखे एक पत्र को ट्वीट करते हुए लिखा, "कृपया इस पत्र की एक-एक लाइन ध्यान से पढ़िये. यूपी की जनता और पुलिस वालों को गर्व होगा कि यूपी पुलिस में एक ईमानदार अधिकारी थे देवेन्द्र मिश्रा जी. जिन्होंने 14 मार्च को ही विभागीय अधिकारियों से गम्भीर घटना घटित होने की आशंका जताई थी. SO विनय तिवारी और विकास दुबे का सच खोला था."

बेटी ने की सीबीआई जांच की मांग



उधर, मीडिया से बातचीत के दौरान शहीद सीओ की बेटी वैष्णवी ने कहा कि यह हत्याकांड एक बड़ी साजिश हैं. अभी तक जो सबूत मिले हैं, वह इसी ओर इशारा कर रहे हैं. वैष्णवी ने कहा कि इस मामले की जांच सीबीआई से कराई जानी चाहिए, ताकि पूरी साजिश का पर्दाफाश हो सके.
देवेंद्र मिश्रा का एसएसपी कानपुर को लिखा पत्र


शहीद देवेंद्र ने अपने पत्र में लिखी थी ये बात

14 मार्च 2020 को कानपुर एसएसपी को लिखे पत्र में शहीद देवेंद्र मिश्रा ने विकास दुबे के खिलाफ कार्रवाई के लिए चौबेपुर थानाध्यक्ष को निर्देशित किया गया था. लेकिन कोई कार्रवाई न होने पर उन्होंने एसएसपी को पत्र लिखा. इस पत्र में उन्होंने लिखा कि थानाध्यक्ष विनय तिवारी द्वारा कुख्यात अपराधी के लिए सहानुभूति उनकी कर्तव्यनिष्ठा पर सवाल खड़े कर रहा है. जानकारी मिली है कि इससे पहले भी विनय तिवारी का विकास दुबे का आना-जाना रहा है. अगर थानाध्यक्ष ने अपनी कार्यप्रणाली में परिवर्तन नहीं किया तो गंभीर घटना घट सकती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading