लाइव टीवी

कानपुर की कोर्ट ने 8 विदेशी तबलीगी जमातियों को जिला कारागार में किया शिफ्ट
Kanpur News in Hindi

Amit Ganjoo | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 21, 2020, 9:39 AM IST
कानपुर की कोर्ट ने 8 विदेशी तबलीगी जमातियों को जिला कारागार में किया शिफ्ट
प्रतीकात्मक तस्वीर

कानपुर की कोर्ट ने इन 8 विदेशी तबलीगी जमातियों (Tabligi Jamaat) को लॉकडाउन के उल्लंघन के मामले में अस्थाई जेल चौबेपुर में रखा था. अब कोर्ट ने इन तबलीगी जमातियों को कानपुर की जिला कारागार भेज दिया है.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश के बाबू पुरवा पुलिस की तहरीर पर 1 अप्रैल को 8 विदेशी तबलीगी जमातियों (Tabligi Jamaati) के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था. उसके बाद पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी. इन विदेशियों में तीन लोग ईरान, चार लोग अफगानिस्तान और ब्रिटेन का एक आरोपी है. इन पर लॉक डाउन का उल्लंघन करने व अन्य आरोपों में एफआईआर दर्ज हुई थी. पुलिस की जांच रिपोर्ट के आधार पर इनके खिलाफ चार्जशीट दाखिल हुई जो न्यायालय (Kanpur Court) में प्रस्तुत हुई थी. कोर्ट ने इन 8 विदेशी जमातियों को तब अस्थाई जेल चौबेपुर में भेज दिया था. अब कोर्ट ने इन तबलीगी जमातियों को अस्थाई जेल से कानपुर की जिला कारागार (Kanpur District Jai) भेज दिया है. चौबेपुर से भेजे गए 24 आरोपियों में 8 विदेशी हैं, जो बिना किसी सूचना के मस्जिद में रुके थे और इसके अलावा बजरिया थाना क्षेत्र के अंतर्गत पुलिस पर पथराव के मामले में भी 17 आरोपियों को जेल भेजा गया.

लॉक डाउन के उल्लंघन का मामला

पुलिस महानरीक्षक मोहित अग्रवाल ने बताया कि इनके खिलाफ लॉक डाउन के उल्लंघन का मामला दर्ज किया गया है. उनके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई की. बाबू पुरवा ही नहीं अन्य क्षेत्रों में भी उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई हुई जिनमें से आठ विदेशी जमाती भी शामिल पाए गए हैं. इन्हें पुलिस की निगरानी में चौबेपुर की अस्थाई जेल में रखा गया था. चार्जशीट दाखिल हो जाने के बाद इन्हें जिला कारागार भेज दिया गया है.



30 मं से 17 आरोपियों को जिला कारागार भेजा



इसके अलावा बजरिया थाना क्षेत्र में पुलिस पर हुए पथराव के मामले में पुलिस ने 30 आरोपियों को चौबेपुर की अस्थाई जेल भेजा था जिसमें से 17 आरोपियों को भी जिला कारागार भेजा गया है. पुलिस द्वारा इन्हें गिरफ्तार करके बजरिया की अस्थाई जेल चौबेपुर में क्वॉरेंटाइन कराया गया था.

पुलिस और प्रशासन को नहीं दी थी सूचना

पुलिस महानिरीक्षक मोहित अग्रवाल ने कहा कि कानून तोड़ने वाले बख्शे नहीं जाएंगे चाहे वे किसी समाज, किसी धर्म या किसी क्षेत्र के हों. जहां तक बात इन विदेशी जमातियों की है, ये सभी बिना सूचना दिए ही कानपुर की मस्जिदों में ठहरे हुए थे. इन्होने अपने रहने की सूचना न ही जिला प्रशासन को दी और न ही पुलिस को कोरोना टेस्ट के दौरान बताई. इसमें से दो जमाती संक्रमित पाए गए थे. अन्य सभी को स्वस्थ लाभ के लिए चौबेपुर स्थित अस्थाई जेल भेजा गया था.

ये भी पढ़ें: पुलिस और अपराधियों के बीच एनकाउंटर, कैंटर में छुपकर जा रहे थे आरोपी

DELHI: बस का इंतजार कर रही गर्भवती महिला ने कहा- पुलिस नहीं दे रही अनुमति
First published: May 21, 2020, 9:29 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading