Assembly Banner 2021

कानपुर: मुठभेड़ में घायल बदमाश पुलिस को चकमा देकर अस्पताल से फरार

बाबूपुरवा पुलिस अभिरक्षा से अभियुक्त के फरार हो जाने के प्रकरण में दोषी पुलिसकर्मी एक दरोगा और दो सिपाहियों पर कार्रवाई की गई है.

बाबूपुरवा पुलिस अभिरक्षा से अभियुक्त के फरार हो जाने के प्रकरण में दोषी पुलिसकर्मी एक दरोगा और दो सिपाहियों पर कार्रवाई की गई है.

बाबूपुरवा पुलिस अभिरक्षा से अभियुक्त के फरार हो जाने के प्रकरण में दोषी पुलिसकर्मी एक दरोगा और दो सिपाहियों पर कार्रवाई की गई है.

  • Share this:
कानपुर में बाबूपुरवा पुलिस की बड़ी लापरवाही सामने आयी है. यहां मंगलवार रात पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हुई. जिसमें आरिफ उर्फ मट्टू ने पुलिस टीम पर ताबड़तोड़ फायरिंग की. जवाबी फायरिंग में आरिफ के दाएं पैर में गोली लगी और उसे धरदबोचा गया. पुलिस ने बदमाश को इलाज के लिए काशीराम अस्पताल में भर्ती कराया. लेकिन बदमाश मट्टू पुलिस की आंखों मे धूल झोंक अस्पताल से फरार हो गया.

हालांकि थाना बाबूपुरवा पुलिस अभिरक्षा से अभियुक्त के फरार हो जाने के प्रकरण में दोषी पुलिसकर्मी एक दरोगा और दो सिपाहियों पर कार्रवाई की गई है.तीनों के खिलाफ धारा 223/224 में मुकदमा पंजीकृत कर उन्हें सस्पेंड कर दिया गया हैं.

एसएसपी अनंत देव ने बताया कि मुखबिर की सूचना पर बदमाशों से मुठभेड़ हुई थी. इसमें एक बदमाश घायल हुआ था जिसे चकेरी थाना क्षेत्र के काशीराम अस्पताल में भर्ती कराया गया था. सुबह 6 बजे के करीब वह टॉयलेट गया. साथ ही सिपाही बाहर खड़े थे. टॉयलेट में साइड की खिड़की टूटी हुई थी, जिससे वह भाग गया. उसकी तलाश की जा रही है. मामले में लापरवाही बरतने के लिए एक एसआई और दो कांस्टेबल को निलंबित कर मुकदमा पंजीकृत किया गया है.



ये भी पढ़ें:
यूपी नए जातीय समीकरण की ओर, OBC व SC/ST आरक्षण को बांटने की तैयारी!

जानिए यूपी में PCS परीक्षा से लेकर UPTET तक कैसे 'सवालों' के फेर में फंसी है योगी सरकार

आरक्षण में आरक्षण: योगी सरकार के लिए कितना मुश्किल होगा OBC कोटा का बंटवारा?

यूपी में OBC व SC/ST आरक्षण 'बंटा' तो सरकारी नौकरियों पर पड़ेगा ये असर
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज