Home /News /uttar-pradesh /

कानपुर में बड़ी लापरवाही: संक्रमित मदरसा छात्र को रिपोर्ट आने से पहले ही किया डिस्चार्ज

कानपुर में बड़ी लापरवाही: संक्रमित मदरसा छात्र को रिपोर्ट आने से पहले ही किया डिस्चार्ज

बढ़ रही है वाराणसी में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या (सांकेतिक तस्वीर)

बढ़ रही है वाराणसी में कोरोना पॉजिटिव मरीजों की संख्या (सांकेतिक तस्वीर)

सीएचसी सरसौल में हुई इस लापरवाही के बाद अब विभाग लिपापोती में लगा है. उधर मुख्य चिकित्सा अधिकारी जांच की दुहाई दे रहे हैं.

कानपुर. यूपी की औद्योगिक राजधानी कानपुर (Kanpur) में एक ओर जहां लगातार कोरोना संक्रमित(Coronavirus) मरीजों की संख्या बढ़ रही है वहीं, दूसरी तरफ स्वास्थ्य विभाग की लापरवाही भी देखने को मिल रही है, ऐसा ही एक मामला उस वक्त देखने को मिला जब सरसौल के कोविड अस्पताल में कोरोना संदिग्ध छात्र की रिपोर्ट आने से पहले ही डिस्चार्ज कर दिया गया. जब उसकी तबीयत बिगड़ी तो फिर से उसे एडमिट किया गया. अब उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है.

सीएचसी सरसौल में हुई इस लापरवाही के बाद अब विभाग लिपापोती में लगा है. उधर मुख्य चिकित्सा अधिकारी जांच की दुहाई दे रहे हैं. दरअसल 27 अप्रैल को मदरसे के छात्रों की दो रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद एंबुलेंस के माध्यम से वापस भेजा जा रहा था. मदरसा पहुंचते ही एक छात्र की हालत बिगड़ गई. इसकी सूचना जब सीएचसी अधीक्षक सीएल वर्मा को मिली तो आनन-फानन में एंबुलेंस को फिर से भेजा गया और उसे मदरसे से वापस सीएचसी में भर्ती कराया गया.

अब कही जा रही है जांच की बात

इस पूरे मामले पर जब सीएचसी सरसौल के अधीक्षक सीएल वर्मा से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि मदरसा पहुंचने के बाद छात्र की हालत बिगड़ी. जिसकी सूचना पर एंबुलेंस भेजकर उसे दोबारा भर्ती करा दिया गया है. वहीं मुख्य चिकित्सा अधिकारी अशोक कुमार शुक्ला ने बताया कि अब इस घटना की जांच कराई जाएगी कि आखिर रिपोर्ट का इंतजार किए बिना कैसे संदिग्ध को डिस्चार्ज कर दिया गया. जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी. बता दें कानपुर में संक्रमितों की संख्या 200 के पार जा पहुंची है. जिले में अभी तक 4 लोगों की मौत भी हो चुकी है.

हैलट का जूनियर डॉक्टर भी संक्रमित

उधर हैलट अस्पताल में भी एक जूनियर डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव पाया गया है. जिसके बाद से सहयोगी कर्मियों में खलबली मची हुई है. आनन-फानन में 23 डॉक्टरों को क्वारंटाइन कर दिया गया है. साथ ही अस्पताल परिसर को सैनिटाइज भी किया जा रहा है. इसके अलावा संक्रमित डॉक्टर के संपर्क में आए मरीजों को भी ट्रेस किया जा रहा है.

ये भी पढ़ें:

अयोध्या: प्रयागराज से छात्रों को लेकर कुशीनगर जा रही बस ट्रक से टकराई

यूपी में 3 मई के बाद ग्रीन व यलो जोन में खुलेंगे उद्योग, ये होगी शर्त

Tags: Kanpur city news, Kanpur news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर