लाइव टीवी

कानपुर: बुजुर्ग मरीज को 4 घंटे में 3 अस्पताल किया गया रेफर, एंबुलेंस में छूट गईं सांसें
Kanpur News in Hindi

Amit Ganjoo | News18 Uttar Pradesh
Updated: May 20, 2020, 8:18 AM IST
कानपुर: बुजुर्ग मरीज को 4 घंटे में 3 अस्पताल किया गया रेफर, एंबुलेंस में छूट गईं सांसें
राज्य में कोरोना संक्रमण से अब तक 13 लोगों की मौत हो चुकी है.

कानपुर (Kanpur) के सीएमओ ने बताया कि वह एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिंड्रोम की स्थिति में पहुंच गए थे. हालत बिगड़ने पर कांशीराम अस्पताल के कोविड वार्ड भेजा गया, वहां मैनेज नहीं होने पर है हैलेट लेवल 3 रेफर किया गया. यहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई. दूसरी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश में कानपुर (Kanpur) शहर का कर्नलगंज क्षेत्र हॉटस्पॉट एरिया है. यहां उस वक्त हड़कंप मच गया, जब 60 वर्षीय बुजुर्ग की मौत (Death) हो गई. ये बुजुर्ग पहले कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) थे, दो दिन पहले ही इनकी रिपोर्ट निगेटिव (Negative) आई थी. पता चला है कि कई घंटे तक बुजुर्ग एक अस्पताल से दूसरे अस्पताल के बीच चक्कर लगाते रहे. पहले उन्हें मंधना के रामा हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया, जहां से रामादेवी स्थित कांशीराम संयुक्त चिकित्सालय के लिए रेफर किया गया. यहां के चिकित्सकों ने हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया. हैलट अस्पताल पहुंचने से पहले ही बुजुर्ग ने एंबुलेंस में मरीज ने दम तोड़ दिया.

परिजनों का आरोप है कि घंटों इलाज के लिए इधर-उधर भटकते रहे, अंत में एंबुलेंस में ही उनकी मौत हो गई. अब कोरोना प्रोटोकॉल के तहत बैग में सील करके दफनाने की प्रक्रिया की जा रही है.  स्वास्थ्य महकमे के अफसरों का दावा है कि 2 दिन पहले ही बुजुर्ग की जांच नेगेटिव आई थी और उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया था.

5 मई को पॉजिटिव और 17 मई निगेटिव रिपोर्ट आई थी



हॉटस्पॉट क्षेत्र कर्नलगंज के 60 वर्षीय बुजुर्ग के बड़े भाई और उनके भतीजे मार्च में सऊदी अरब से उमरा कर शहर वापस लौटे थे. उनके पड़ोसियों के मुताबिक एक मई में हुई जांच में उनके भाई व भतीजे को कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. उसके घर के सभी सदस्यों को जाजमऊ के सर सैयद पब्लिक स्कूल में क्वॉरेंटाइन कर दिया गया. वहां से उन सभी को जांच कराई गई. 5 मई को आई रिपोर्ट में बुजुर्ग समेत घर के 6 सदस्य पॉजिटिव मिले, सभी को रामा मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया था. रविवार को सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आने पर सोमवार को सभी को घर वापस भेज दिया गया.



सांस में तकलीफ की हुई शिकायत

घर पहुंचने पर बुजुर्ग को सांस लेने में तकलीफ हुई तो इसकी सूचना उन्होंने चिकित्सकों को दी और उन्हें अस्पताल में रोक लिया गया. सुबह गंभीर स्थिति होने पर कांशीराम अस्पताल भेजा गया, वहां से डॉक्टरों ने हैलट रेफर कर दिया. परिजनों का आरोप है कि भर्ती करने के लिए दौड़ाते रहे, समय से इलाज नहीं मिला और बुजुर्ग की मौत हो गई.

सीएमओ बोले...

हैलेट इमरजेंसी मेडिकल ऑफिसर के मुताबिक पता चलते ही इसकी ईसीजी कराई लेकिन उनकी सांसें थम चुकी थीं. पूरे मामले पर सीएमओ ने बताया कि वह एक्यूट रेस्पिरेट्री डिस्ट्रेस सिंड्रोम की स्थिति में पहुंच गए थे. हालत बिगड़ने पर कांशीराम अस्पताल के कोविड वार्ड भेजा गया, वहां मैनेज नहीं होने पर है हैलेट लेवल 3 रेफर किया गया. यहां पहुंचने से पहले ही उनकी मौत हो गई. दूसरी रिपोर्ट नेगेटिव आई थी.

ये भी पढ़ें:

इटावा में ट्रक ने 6 किसानों को कुचला, मौत, सीएम योगी दुखी, आर्थिक मदद का ऐलान

उन्नाव COVID-19 Update: महाराष्ट्र से लौटे 5 प्रवासी मजदूर मिले कोरोना पॉजिटिव
First published: May 20, 2020, 8:18 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading