होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

कानपुर एनकाउंटर: चौबेपुर SO विनय तिवारी की भूमिका पर उठे सवाल, हुए सस्पेंड

कानपुर एनकाउंटर: चौबेपुर SO विनय तिवारी की भूमिका पर उठे सवाल, हुए सस्पेंड

गांव में रहने वाले 85 वर्ष सुखीराम ने बताया कि वे घर के अंदर सो रहे थे.

गांव में रहने वाले 85 वर्ष सुखीराम ने बताया कि वे घर के अंदर सो रहे थे.

कानपुर (Kanpur) के आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि यदि किसी की भी इस मामले में संलिप्तता पाई गई तो उसकी बर्खास्तगी भी होगी और गिरफ्तारी भी.

कानपुर. उत्तर प्रदेश में कानपुर एनकाउंटर (Kanpur Encounter) मामले में पुलिस ने घेराबंदी शुरू कर दी है. यूपी के कई जिलों में फरार अभियुक्त विकास दुबे (Vikas Dubey) की तलाश जारी है, इसी बीच विकास दुबे को पकड़ने के लिए भारत के बाहर भी पुलिस की टीमें भेजी गई हैं. उसके नेपाल भागने की संभावना को लेकर ये कवायद की जा रही है. वहीं पूरे घटनाक्रम में चौबेपुर एसओ विनय तिवारी की भूमिका संदिग्ध पाई गई है, जिसके बाद उन्हें निलंबित कर दिया गया है. इसके अलावा मुखबिरी करने के मामले में अन्य पुलिसकर्मियों की भूमिका की भी जांच की जा रही है.

जो मिला दोषी उसकी बर्खास्तगी के साथ गिरफ्तारी: आईजी

आईजी मोहित अग्रवाल का कहना है कि यदि किसी की भी इस मामले में संलिप्तता पाई गई तो उसकी बर्खास्तगी भी होगी और गिरफ्तारी भी. विकास दुबे के मकान गिराए जाने पर आईजी ने कहा कि ग्रामीणों का कहना है कि विकास दुबे ने अनाधिकृत रूप से जमीन को कब्जा करके अवैध रूप से मकान बना रखा था. ग्रामीणों में जिसको लेकर काफी आक्रोश था. जिसको लेकर संबंधित विभागीय द्वारा कार्रवाई की जा रही है.

पीड़ित राहुल तिवारी केस से जुड़े एसओ के तार

दरअसल पता चला कि इस पूरे मामले की शुरुआत एक पीड़ित राहुल तिवारी के साथ मारपीट से हुई थी. विकास दुबे पर पीड़ित राहुल तिवारी ने जानलेवा हमला करने का आरोप लगाया था. लेकिन जानलेवा हमले की एफआईआर दर्ज करने के बजाए एसओ चौबेपुर विनय तिवारी विकास दुबे के यहां समझौता कराने पहुंचे थे. इस दौरान राहुल तिवारी को पीटने के साथ एसओ विनय तिवारी को भी विकास ने बेइज्जत किया था. यही नहीं बताया जा रहा है कि देर रात विकास दुबे की गिरफ्तारी को दबिश देने गई टीम में एसओ चौबेपुर सबसे पीछे थे.

एसओ चौबेपुर की भूमिका संदिग्ध पाए जाने के बाद आईजी ने उन्हें निलंबित करने का फरमान सुना दिया है. साथ ही कहा है कि भूमिका पाए जाने पर मुकदमा भी लिखा जाएगा और जेल भी भेजा जाएगा.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

Tags: Encounter, Kanpur news, Kanpur Police, Up news in hindi, UP news updates, Uttarpradesh news

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर