अपना शहर चुनें

States

Video: अमरस में आम की बजाय गुड और रंग, सड़े कद्दू से बनता है टोमैटो सॉस

यूपी के कानपुर में बर्रा के जरौली इलाके में पिछले काफी समय से चल रही मिलावटी अमरस, सॉस और कोकोनट टॉफी बनाने वाली फैक्‍ट्री का भंडाफोड़ किया है.

  • Share this:
यूपी के कानपुर में बर्रा के जरौली इलाके में पिछले काफी समय से चल रही मिलावटी अमरस, सॉस और कोकोनट टॉफी बनाने वाली फैक्‍ट्री का भंडाफोड़ किया है.

फूड विभाग की टीम ने रविवार शाम को पुलिस के साथ छापेमारी की, तो उनके होश उड़ गए क्यों कि फैक्ट्री में अमरस में आम का नामो निशान तक नही मिला है. वहीं पुलिस ने फैक्ट्री संचालक को गिरफ्तार कर लिया है.

बर्रा थाना क्षेत्र के बर्रा गांव में पिछले छह माह से गोपाल यादव चला रहे थे. गोपाल यादव ने लगभग दो गज का प्लॉट सुरेन्द्र सिंह से किराए पर ले रखा था. जानकारी के मुताबिक, फैक्ट्री संचालक इससे पहले ग्वालियर में काम करता था लेकिन लगभग एक साल से उसने अपना धंधा कानपुर में जमा लिया था. इस अवैध फक्ट्री में बना हुआ अमरस, टॉफी व सॉस कानपुर देहात, ओरैया, हमीरपुर समेत आसपास के जिलों में भारी मात्रा में सप्लाई किया जाता था.



जब खाद्य विभाग की टीम जब पुलिस के साथ फैक्ट्री में पहुंची तो वह भी दंग रह गए. फैक्ट्री में कई बड़े-बड़े भौगौने रखे थे, जिसमे गुड व केमिकल युक्त रंग के साथ पकाया जा रहा था. फ़ूड विभाग की टीम ने पांच कुंतल माल अमरस का नष्ट कर दिया. इसके साथ केमिकल युक्त कलर को भी नष्ट कर दिया और कोकोनट टॉफी में बनाने के लिए सड़ी हुई गरी और शक्कर को जब्त कर लिया है. वहीं जो सॉस बनाया जाता था उसमे कद्दू का उपयोग किया जाता था जिसकी सैम्प्लिग़ की गई है.
खाद्य अधिकारी विरेंदर कुशवाहा ने बताया कि इस फैक्ट्री में बनने वाले उत्पाद बेहद हानिकारक है. इस फैक्ट्री में गंदगी का अम्बर लगा है सभी उत्पाद गंदगी में बनाए जा रहे है. उन्होंने बताया कि अमरस बनाने के लिए यह गुड़, मैदा, आम का पाउडर और कलर का उपयोग करते है.  इसके बाद इसको गंदगी में सुखा कर ग्रामीण क्षेत्रों में सप्लाई करते है. इसके साथ कोकोनट टॉफी जिस बर्तन में बनाते है उसमे कीड़े पड़े हुए है. चाउमीन में प्रयोग किए जाने वाले टोमेटो व चिली सॉस में बनाने में कद्दू का उस किया जा रहा है. इसमें बड़ी मात्रा में कलर का उपयोग किया जा रहा है जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही हानिकारक है.

गोविन्द नगर सीओ विशाल पाण्डेय के मुताबिक, इस फैक्ट्री के संचालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. उन्होंने बताया की फैक्ट्री से लाखों का कारोबार अवैध रूप से चल रहा था. फैक्ट्री संचालक पर विधिक कार्रवाई की जाएगी.

 
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज