होम /न्यूज /उत्तर प्रदेश /

कानपुर: गैंगस्टर विकास दुबे और उसके 4 गुर्गों का एनकाउंटर था सही, जांच में पुलिस को क्लीनचिट

कानपुर: गैंगस्टर विकास दुबे और उसके 4 गुर्गों का एनकाउंटर था सही, जांच में पुलिस को क्लीनचिट

कानपुर एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के सहयोगियों पर कार्रवाई जारी है. (फाइल फोटो)

कानपुर एनकाउंटर में मारे गए गैंगस्टर विकास दुबे के सहयोगियों पर कार्रवाई जारी है. (फाइल फोटो)

Kanpur News: तीन मुठभेड़ में मारे गए 4 बदमाशों के मामले की डीएम ने जांच करवाई थी. इस जांच रिपोर्ट में पुलिस को क्लीनचिट मिल गई है.

कानपुर. उत्तर प्रदेश के कानपुर जिले के बिकरू गांव (Bikru Shootout) में 8 पुलिसकर्मियों की हत्या के मुख्य आरोपी गैंगस्टर विकास दुबे (Gangster Viaks Dubey) और उसके 4 साथियों की पुलिस से हुई मुठभेड़ (Police Encounter) को न्यायिक और मजिस्ट्रेटी जांच में सही पाया गया है. तीन मुठभेड़ में मारे गए चार बदमाशों के मामले में डीएम के आदेश पर हुई जांच में पुलिस को क्लीनचिट मिल गई है. इसके साथ ही एनकाउंटर पर उठ रहे तमाम विवादों पर विराम लग गया है. तीन एनकाउंटर की जांच रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपी गई है, जिसे सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर गठित आयोग को भेजा गया है.

बता दें कि 2 जुलाई की रात दबिश देने गई पुलिस टीम पर विकास दुबे और उसके साथियों ने हमला कर दिया था. विकास और उसके गुर्गो द्वारा की गई फायरिंग में सीओ सहित 8 पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी. इसके बाद 3 जुलाई की सुबह पुलिस गांव और आसपास के क्षेत्रों में कांबिंग कर रही थी, तभी काशीपुर नवादा गांव में पुलिस की दो बदमाशों से मुठभेड़ हो गई थी. जिसमें विकास के साथी प्रेम प्रकाश पांडे और अतुल दुबे मारा गया था. इस मुठभेड़ की जांच एडीएम (भूअधिपत्य) को सौंपी गई थी. यह बात साफ हो गई थी कि काशीराम नवादा गांव के बाहर बने मंदिर के पास मौजूद पुलिसकर्मियों पर प्रेम प्रकाश और अतुल ने फायरिंग की थी. इसके बाद पुलिस ने आत्मरक्षा में फायरिंग की और दोनों मारे गए.



पुलिस मुठभेड़ में इनकी हुई थी मौत 
मुठभेड़ में आइजी मोहित अग्रवाल और तत्कालीन एसएसपी दिनेश कुमार पी बाल-बाल बच गए थे. वहीं, उज्जैन से वापस लाते समय पुलिस की गाड़ी पलटने के बाद विकास दुबे पुलिस की पिस्टल लेकर भागा था, जिसके बाद पीछा करने पर उसने पुलिस पर फायरिंग की थी. पुलिस ने जवाबी फायरिंग की और विकास दुबे की मुठभेड़ में मौत हो गई थी. न्यायिक जांच में इस मुठभेड़ को भी सही माना गया है. इसके साथ ही पनकी थाना क्षेत्र में ही प्रभात दुबे के साथ हुई पुलिस मुठभेड़ पर भी न्यायिक जांच ने मुहर लगा दी है. प्रभात को फरीदाबाद से कानपुर लाया जा रहा था, रास्ते में पुलिस की जीप पंचर हो गई. इस दौरान प्रभात दरोगा की पिस्टल लेकर भागा और पुलिस पर फायरिंग की. बाद में पुलिस ने फायरिंग की और प्रभात मारा गया.

डीएम ने दी क्लीनचिट
सभी एनकाउंटर की हुई जांच में पुलिसकर्मियों को क्लीनचिट दे दी गई है. डीएम आलोक तिवारी ने बताया कि न्यायिक और मजिस्ट्रेटी जांच की रिपोर्ट मिल गयी है, जिनमें इन मुठभेड़ों को सही पाया गया है.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

Tags: Kanpur city news, Kanpur latest news, Kanpur Police, Vikas Dubey Encounter

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर