अपना शहर चुनें

States

कानपुर हिस्ट्रीशीटर आशु यादव हत्याकांड का खुलासा, गर्लफ्रेंड ने साथियों संग मिलकर करवाया था मर्डर

कानपुर हिस्ट्रीशीटर आशु यादव की हत्या का खुलासा
कानपुर हिस्ट्रीशीटर आशु यादव की हत्या का खुलासा

Kanpur News: पुलिस ने हत्या की वारदात में शामिल दो हत्यारोपियों किशन वर्मा और सचिन वर्मा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस हत्याकांड की मुख्य आशू की प्रेमिका दीपिका शुक्ला और उसके प्रेमी अमित गुप्ता को गिरफ्तार करने के प्रयास कर रही है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 5, 2021, 8:53 AM IST
  • Share this:
कानपुर. हिस्ट्रीशीटर आशु यादव की हत्या (Ashu Yadav Murder) मामले का खुलासा करते हुए पुलिस (Police) ने दो लोगों को गिरफ्तार किया है. पुलिस के मुताबिक हिस्ट्रीशीटर की हत्या उसकी बेवफा गर्लफ्रेंड ने कराई थी. हत्यारोपी गर्लफ्रेंड और वारदात में शामिल उसका नया प्रेमी अभी फरार है. आपको बता दें कि 2 जनवरी को बर्रा थाना क्षेत्र में नहर के किनारे लावारिस खड़ी कार में युवक का शव बरामद हुआ था. जिसकी पहचान रेल बाजार थाना क्षेत्र में रहने वाले हिस्ट्रीशीटर आशू यादव के रूप में हुई.

आपको बता दें कि 2 जनवरी को बर्रा थाना क्षेत्र में नहर के किनारे लावारिस खड़ी कार में युवक का शव बरामद हुआ था. जिसकी पहचान रेल बाजार थाना क्षेत्र में रहने वाले हिस्ट्रीशीटर आशू यादव के रूप में हुई. हत्या की वारदात के खुलासे के लिए स्थानीय थाना पुलिस के साथ ही सर्विलांस टीम लगाई गई. पुलिस ने हत्या की वारदात में शामिल दो हत्यारोपियों किशन वर्मा और सचिन वर्मा को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस हत्याकांड की मुख्य आशू की प्रेमिका दीपिका शुक्ला और उसके प्रेमी अमित गुप्ता को गिरफ्तार करने के प्रयास कर रही है.

नशे धुत कर की हत्या 



हत्या की वारदात का खुलासा करते हुए एसपी राजकुमार अग्रवाल ने बताया कि आशु की हत्या उसकी गर्लफ्रेंड दीपिका शुक्ला ने कराई थी. आशु की गर्लफ्रेंड दीपिका के अमित गुप्ता नाम के होटल संचालक से प्रेम संबंध हो गए थे. जिसके चलते वह आशु से दूरियां बनाना चाहती थी लेकिन आशु उसका पीछा नहीं छोड़ रहा था. जिसके चलते दीपिका ने अमित के साथ मिलकर आशु को ठिकाने लगाने की साजिश रच डाली. 1 जनवरी की रात फोन करके दीपिका ने आशु को मिलने के लिए बुलाया. जिसके बाद सभी लोगों ने बैठकर शराब पी और जब आशु नशे में धुत हो गया तो उसकी जमकर पिटाई करने के बाद मफलर से गला घोंटकर उसकी हत्या कर दी. आशु की अंगुलियों से अंगूठियां और उसके मोबाइल निकालने के बाद उसकी लाश को उसी की कार में डालकर बर्रा थाना क्षेत्र के नहर किनारे छोड़ दिया. पुलिस ने हत्या की वारदात में शामिल दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है. वही हत्यारोपी प्रेमिका और उसके कथित प्रेमी की तलाश में छापेमारी की जा रही है.
गौरतलब है कि 31 दिसंबर की रात आशु घर से निकला था, लेकिन वापस नहीं लौटा. उसके बाद बहन ने रेलबाजार थाने में गुमशदगी की रिपोर्ट दर्ज करवाई थी. इसके बाद 2 जनवरी को पुलिस को आशु का शव मिला. जिसके बाद पुलिस ने हत्या की धाराओं में मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू की. जांच के दौरान पता चला कि 31 दिसंबर को आशु के फोन पर आखिरी कॉल एक महिला की आई थी. उस नंबर की सीडीआर निकाली गई तो वह नंबर सीतापुर की शालिनी के नाम का निकला, जिसका इस्तेमाल मसवानपुर निवासी दीपिका शुक्ला कर रही थी.

ऐसे हुआ खुलासा 

एसपी पूर्वी ने बताया कि दीपिका के बारे में जानकारी जुटाने में पुलिस को ज्यादा समय नहीं लगा क्योंकि वह खुद शातिर अपराधी है. दीपिका के फोन की सीडीआर निकलवाने पर पुलिस को दूसरे आरोपित हिस्ट्रीशीटर अमित गुप्ता के बारे में जानकारी मिली. अमित की सीडीआर रिपोर्ट के जरिए पुलिस उसके दो अन्य साथी जूही लाल कालोनी निवासी किशन वर्मा और सचिन वर्मा तक पहुंची. इन दोनों के बारे में जानकारी मिलने के साथ ही पुलिस ने 3 जनवरी को उनके घरों पर दबिश देकर दोनों को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ में दोनों ने घटना कबूल की और बताया कि कैसे घटना को अंजाम दिया गया है. इसके अलावा दीपिका और अमित गुप्ता फरार है. एसपी के मुताबिक दोनों की तलाश की जा रही है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज