Home /News /uttar-pradesh /

क्या Kanpur IT Raid का सपा से है संबंध, पीयूष जैन ने ही किया था इत्र लॉन्च? सामने आकर समाजवादी पार्टी ने सब बताया

क्या Kanpur IT Raid का सपा से है संबंध, पीयूष जैन ने ही किया था इत्र लॉन्च? सामने आकर समाजवादी पार्टी ने सब बताया

Kanpur IT Raid Piyush Jain: पीयूष जैन के सपा संग संबंधों पर समाजवादी पार्टी ने बयान दिया है.

Kanpur IT Raid Piyush Jain: पीयूष जैन के सपा संग संबंधों पर समाजवादी पार्टी ने बयान दिया है.

SP Reaction On Kanpur IT Raid: कानपुर (Kanpur News) के जूही स्थित आनंदपुरी में पीयूष जैन (Piyush Jain News) के घर आयकर विभाग और डीजीजीआई की रेड में अब तक 180 करोड़ रुपए मिल चुके हैं. वहीं, कन्नौज में भी करोड़ों की नकदी और सोने मिलने की बात कही जा रही है. इस बीच पीयूष जैन को समाजवादी पार्टी (Samajwadi Party) से जुड़े होने का आरोप भी लग रहा है. भाजपा जहां इस कानपुर के 'कुबेर कांड' को लेकर सपा पर हमलावर है, वहीं समाजवादी पार्टी का कहना है कि पीयूष जैन और उन पर हुई कार्रवाई का सपा से कोई लेना देना नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    कन्नौज/ कानपुर: उत्तर प्रदेश के इत्र कारोबारी पीयूष जैन (Piyush Jain) के कानपुर (Kanpur IT Raid)  और कन्नौज (Kannauj IT Raid स्थित आवास पर आयकर विभाग (IT Raid) और डीजीजीआई की रेड जारी है. कानपुर के जूही स्थित आनंदपुरी में पीयूष जैन (Piyush Jain News) के घर आयकर विभाग और डीजीजीआई की रेड में अब तक 180 करोड़ रुपए मिल चुके हैं. वहीं, कन्नौज में भी करोड़ों की नकदी और सोने मिलने की बात कही जा रही है. इस बीच पीयूष जैन का समाजवादी पार्टी से जुड़े होने का आरोप भी लग रहा है. भाजपा जहां इस कानपुर के ‘कुबेर कांड’ को लेकर सपा पर हमलावर है, वहीं समाजवादी पार्टी का कहना है कि पीयूष जैन और उन पर हुई कार्रवाई का सपा से कोई लेना देना नहीं है.

    कन्नौज और कानपुर में पीयूष जैन के यहां छापेमारी पर समाजवादी पार्टी के जिला प्रवक्ता विजय द्विवेदी ने कहा कि इन छापों का समाजवादी पार्टी का कोई लेना देना नहीं है. उन्होंने कहा कि छापों से सपा को जोड़ कर समाजवादी पार्टी और अखिलेश यादव की छवि को खराब करने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं. बता दें कि भाजपा लगातार यह आरोप लगा रही है कि पीयूष जैन ने ही समाजवादी इत्र को लॉन्च किया था. इससे पहले भी सपा भाजपा के आरोपों को नकार चुकी है.

    प्रेस कॉन्फ्रेंस में उन्होंने आगे कहा कि कानपुर में पीयूष जैन पर पड़े छापों का या कन्नौज में पड़े छापों का सपा से कोई लेना देना नहीं है. आईटी विभाग अपनी कार्रवाई करे. समाजवादी इत्र को लेकर सपा प्रवक्ता ने कहा कि हमारी पार्टी का पीयूष जैन से कोई मतलब नहीं. उन्होंने समाजवादी इत्र को लॉन्च नहीं किया था. हमारे एक एमएलसी और एक कारोबारी जिनका नाम भी जैन है, ने किया इसे लॉन्च किया था. केवल जैन होने से पूरी बिरादरी के लोगों को अपराधी नहीं कह सकते. बता दें कि प्रेसवार्ता के दौरान सदर विधायक अनिल दोहरे भी मौजूद थे.

    भाजपा का क्या है आरोप
    भारतीय जनता पार्टी के प्रवक्ता संबित पात्रा ने ट्वीट कर सपा पर हमला बोला है. उन्होंने ट्वीट किया, ‘समाजवादियों का नारा है, नता का पैसा हमारा है! समाजवादी पार्टी के कार्यालय में समाजवादी इत्र लॉन्च करने वाले पीयूष जैन के यहां जीएसटी के छापे में बरामद 100+ करोड़ कौन से समाजवाद की काली कमाई है?’ वहीं, भाजपा यूपी ने ट्वीट कर कहा कहा, ‘सपाइयों… तुम्हारे पापों की दुर्गंध ‘भ्रष्टाचार के इत्र’ से नहीं जाएगी. 150 करोड़ रुपये से अधिक काला धन जब्त हुआ है. भ्रष्टाचारियों पर कार्रवाई होती है तो अखिलेश जी को ‘दर्द’ होना स्वाभाविक है. क्योंकि पूरा यूपी जानता है कि सपा मतलब भ्रष्टाचार.’

    कौन हैं पीयूष जैन
    दरअसल, पीयूष जैन कन्नौज के बड़े व्यापारियों में शुमार हैं और इत्र के बड़े कारोबारी माने जाते हैं. वैसे तो यह कानपुर के भी बड़े कारोबारी माने जाते हैं, मगर क्योंकि इनका मूल जन्म स्थान कन्नौज है, इसलिए इन्हें कन्नौज का धनकुबेर कहा जाता है. पीयूष जैन 40 से ज्‍यादा कंपनियों के मालिक हैं. इनमें से दो कंपनियां मिडिल ईस्ट में हैं. कन्‍नौज में पीयुष की परफ्यूम फैक्‍ट्री, कोल्‍ड स्‍टोरेज और पेट्रोल पंप भी हैं. मुंबई में पीयूष का हेड ऑफिस है. साथ ही वहां उनका एक बंगला भी है. पीयूष जैन इत्र का सारा बिजनेस मुंबई से करते हैं, यहीं से इनका इत्र विदेशों में भी भेजा जाता है.

    पीयूष जैन के घर क्या-क्या हुआ
    दरअसल, पीयूष जैन के घर आयकर विभाग और डीजीजीआई की टीम ने रेड की और 36 घंटे तक चली छापेमारी में करीब 180 करोड़ रुपए मिले. आलमारीर से लेकर बिस्तरों के अंदर नोटों के बंडल मिले. इस 180 करोड़ रुपए को 80 बक्से में भरा गया और कर्मचारियों की मदद से बैंक तक पहुंचाए गए. 36 घंटे तक चली इस कार्रवाई में कुल 27 कर्मचारी लगातार लगे हुए थे. हालांकि, छापेमारी के दौरान घर के अंदर और बाहर दोनों जगह पुलिस बलों की तैनाती थी.

    क्या हैं जैन पर आरोप
    दरअसल, पीयूष जैन पर आरोप है कि कई फर्ज़ी फर्मों के नाम से बिल बनाकर कंपनी ने करोड़ों रुपयों की जीएसटी चोरी की. पीयूष के घर से 200 से अधिक फर्जी इनवॉइस और ई-वे बिल मिले हैं. पीयूष जैन के घर में बड़ी तादाद में बक्से मंगवाये गए हैं. छापेमारी के दौरान जीएसटी चोरी का भारी खेल सामने आया है.

    Tags: IT Raid, Kanpur news, Uttar pradesh news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर