Home /News /uttar-pradesh /

कानपुर लव जेहद मामला: SIT जांच लगभग पूरी, कई बड़े खुलासे की उम्मीद

कानपुर लव जेहद मामला: SIT जांच लगभग पूरी, कई बड़े खुलासे की उम्मीद

एसपी साउथ दीपक भूकर

एसपी साउथ दीपक भूकर

Kanpur Love Jehad case: आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने कानपुर में कई मामले सामने आने के बाद संगठित गिरोह द्वारा लव जिहाद फैलाए जाने के आरोप को लेकर साथ ही साथ फंडिंग के मामले की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया गया था.

कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) में लव जिहाद (Love Jehad) के एक दर्जन से ज्यादा मामले सामने आने के बाद गठित की गई एसआईटी (SIT) की टीम ने अपनी जांच लगभग पूरी कर ली है. लव जिहाद के मामलों की जांच कर रही एसआईटी इस हफ्ते जांच रिपोर्ट आला अधिकारियों को सौंप सकती है. एसआईटी प्रभारी एसपी साउथ दीपक भूकर की माने तो जांच लगभग पूरी हो चुकी है और वह जांच रिपोर्ट एक हफ्ते के अंदर आला अधिकारियों को सौंप देंगे.

ये जांच कर रही SIT

आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने कानपुर में कई मामले सामने आने के बाद संगठित गिरोह द्वारा लव जिहाद फैलाए जाने के आरोप को लेकर साथ ही साथ फंडिंग के मामले की जांच करने के लिए एसआईटी का गठन किया गया था. एसआईटी की टीम जूही लाल कॉलोनी के कई मामले सामने आने के बाद सभी मामलों के एक दूसरे से कनेक्शन की जांच कर रही थी. साथ ही साथ आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बाद भी हाईकोर्ट में महंगे वकीलों को खड़ा करने के लिए एसआईटी फंडिंग के मामले को लेकर भी जांच कर रही है. हालांकि अधिकारियों की माने तो जांच रिपोर्ट से कई बड़े खुलासे होने की उम्मीद है.

एक हफ्ते में जांच सौंपी जाएगी

साउथ एसपी दीपक भूकर ने बताया कि सीओ गोविंदनगर द्वारा मामले की जांच की जा रही है. जांच लगभग पूरी हो चुकी है और अगले सात दिनों में यह रिपोर्ट अधिकारियों को सौंपते हुए मीडिया को भी अवगत करा दिया जाएगा.

कई मामले आए थे सामने

गौरतलब है कि कानपुर नगर के जूही कॉलोनी और नौबस्ता इलाके में लव जिहाद के कई मामले सामने आए. जिसके बाद कई लड़कियों के परिजनों ने साजिशन प्यार में फंसाने और धर्म परिवर्तन कराने का आरोप लगाया. जिसके बाद हिंदू संगठनों ने भी इसका विरोध किया. जिसके बाद आईजी रेंज मोहित अग्रवाल ने एसआईटी गठित कर मामले की जांच दी.

आपके शहर से (कानपुर)

कानपुर
कानपुर

Tags: Kanpur city news, Kanpur Police

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर