कानपुर: मासूम बेटे को फांसी पर लटका बाप ने भी की आत्महत्या
Kanpur News in Hindi

कानपुर: मासूम बेटे को फांसी पर लटका बाप ने भी की आत्महत्या
मौके पर पहुंची पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव निकाला बाहर

सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस और फॉरेन्सिक टीम ने गहनता से जांच के बाद दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

  • Share this:
कानपुर. उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) जनपद में बाप-बेटे के शव घर के अंदर फांसी पर लटके मिलने से हड़कंप मच गया. मासूम बच्चे को फांसी पर लटकाने के बाद पिता के आत्महत्या (Suicide) करने की आशंका जतायी जा रही है. मृतक युवक एलआईसी में एजेंट था. पत्नी की मौत की वजह से वह पिछले काफी समय से अवसाद में था. सूचना पर मौके पर पहुंची पुलिस और फॉरेन्सिक टीम ने गहनता से जांच के बाद दोनों के शवों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया.

पत्नी की मौत के बाद से डिप्रेशन में था मृतक

घटना हरबंश मोहाल थाना क्षेत्र के गडरिया मोहाल की है. यहां रहने वाला 40 साल का हेमंत कनोडिया एलआईसी एजेंट था. तकरीबन 10 साल पहले उसकी शादी अनीता के साथ हुई थी. दोनों ने लव मैरिज की थी. 3 महीने पहले बीमारी के चलते अनीता की मौत हो गई. जिसके बाद से हेमंत डिप्रेशन में था. डॉक्टर से उसके अवसाद का इलाज भी चल रहा था. इसी अवसाद में उसने पहले अपने 8 साल के बेटे अनय को फांसी पर लटका दिया और खुद भी फांसी का फंदा डालकर झूल गया. पास में रहने वाले हेमंत के परिजनों के फोन करने पर जब फोन नहीं उठा तब उन्होंने मामले की जानकारी पुलिस को दी. मौके पर पहुंची पुलिस ने घर का दरवाजा तोड़कर अंदर का नजारा देखा तो पुलिसकर्मी भी सन्न रह गए. बाप और बेटे की लाशें थोड़ी दूरी पर फंदे में झूल रही थी. घटना की जानकारी होने पर क्षेत्र में सनसनी फैल गई.



आत्महत्या मानकर पुलिस कर रही छानबीन
पुलिस ने दोनों के शवों को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. घटना की जानकारी पर मृतक के दोनों भाई मौके पर पहुंचे. हेमंत के भाई प्रभात कनोडिया का कहना है कि इसी साल शिवरात्रि के दिन हेमंत की पत्नी अनीता की मौत हो गई थी. वह पिछले काफी समय से बीमार चल रही थी. अनीता की मौत के बाद हेमंत डिप्रेशन में चला गया. जिसका इलाज डॉक्टर से चल रहा था. लॉकडाउन के चलते वह घर में कैद था. संभवत डिप्रेशन में आकर उसने पहले बेटे को फांसी पर लटकाया और फिर खुद आत्महत्या कर ली. वहीं मौके पर पहुंची सीओ कलेक्टरगंज श्वेता यादव का कहना है कि मौके से कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है. पुलिस दरवाजा तोड़कर अंदर गई थी और दोनों के शव लटकते हुए मिले थे. फिलहाल पुलिस मामले को आत्महत्या मानकर चल रही है. साक्ष्य मिलने पर अन्य पहलुओं पर भी जांच की जाएगी.

ये भी पढ़ें:

स्वास्थ्य विभाग की टीम पर पथराव करने में 7 महिलाओं समेत 17 गिरफ्तार

COVID-19: नोएडा में हॉटस्पॉट लिस्ट से चार बाहर, नहीं मिला कोई पॉजिटिव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज